लखनऊ [निशांत यादव]। कारपोरेट सेक्टर की देश की पहली ट्रेन तेजस के ट्रायल को अधिकारिक रूप से पूर्वोत्तर रेलवे ने शनिवार को क्लीयरेंस दे दी। यह ट्रेन चार अक्टूबर को स्पेशल बनकर, जबकि छह अक्टूबर से नियमित लखनऊ से नई दिल्ली तक दौड़ेगी।

12 बोगियों वाली इस ट्रेन का नाम आइआरसीटीसी तेजस एक्सप्रेस होगा। इसमें एक एक्जक्यूटिव क्लास और नौ एसी चेयरकार की बोगियां होंगी। शेष दो पावर जनरेटर कार होंगे। ट्रेन के गार्ड और लोको पायलट रेलवे के होंगे। ट्रेन का किराया डॉयनामिक (गतिशील) होगा, जो हर सीट की बुकिंग के साथ बढ़ेगा। यह ट्रेन 6:15 घंटे में लखनऊ से नई दिल्ली तक 504 किलोमीटर की दूरी तय करेगी, जबकि शताब्दी एक्सप्रेस को इसमें 6:40 घंटे का समय लगता है। आइआरसीटीसी यात्रियों को निश्शुल्क 25 लाख रुपये का बीमा करेगा। इसके साथ ही सामान का भी बीमा करेगा।

टाइमलाइन

  • 30 जून- रेल कोच फैक्ट्री से रैक आनंदनगर होते हुए लखनऊ लाए गए।
  • 20 अगस्त- को रेलवे बोर्ड ने तेजस को चलाने की गाइड लाइन जारी की।
  • 19 सितंबर- रेलवे बोर्ड ने समय संशोधित कर ट्रेन आर्डर जारी किया।
  • 20 सितंबर- पूर्वोत्तर रेलवे ने शुक्रवार को ट्रेन ऑपरेशन के आदेश दिए।

 

ऐसे दौड़ेगी ट्रेन

चार अक्टूबर को तेजस स्पेशल सुबह 9:30 बजे लखनऊ जंक्शन से चलकर 10:40 बजे कानपुर, दोपहर 3:03 बजे गाजियाबाद होकर शाम चार बजे नई दिल्ली पहुंचेगी। छह अक्टूबर से आइआरसीटीसी तेजस एक्सप्रेस मंगलवार को छोड़कर सप्ताह में छह दिन सुबह 6:10 बजे लखनऊ जंक्शन से चलकर 7:20 बजे, 11:45 बजे गाजियाबाद होते हुए 12:25 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी। वापसी में दोपहर 3:35 बजे नई दिल्ली से चलकर शाम 4:09 बजे गाजियाबाद, रात 8:35 बजे कानपुर और रात 10:05 बजे लखनऊ जंक्शन पहुंचेगी।

ये होगा शुरुआती किराया

लखनऊ से नई दिल्ली का एसी चेयरकार का शुरुआती किराया 1125 और वापसी में 1280 रुपये होगा। एक्जक्यूटिव क्लास में लखनऊ से नई दिल्ली का किराया 2310 और वापसी में 2450 रुपये होगा। वापसी में डिनर के चलते किराया अधिक होगा।

मांग से बढ़ा डॉयनामिक फेयर

दीपावली के समय तेजस का डॉयनामिक फेयर शताब्दी एक्सप्रेस के डॉयनामिक फेयर से तीन गुना तक पहुंच गया है। इसका 25 अक्टूबर का किराया अंतिम 97 सीटें रहने तक 3295 रुपये और एक्जक्यूटिव क्लास का 19 सीटें बची रहने पर 4325 रुपये हो चुका था।

 यह भी पढ़ें : Tejas Class Train: अगले 60 दिनों तक की फुल हुई सीट, सबसे ज्‍यादा डिमांड 25 अक्‍टबूर की

यह होंगे नियम

  • चार्ट बनने पर टिकट वेटिंग रहने पर नहंीं कटेगा कटौती शुल्क
  • चार घंटे पहले वेटिंग टिकट निरस्तीकरण पर 25 रुपये कटेंगे
  • रिफंड टीडीआर से नहीं, भुगतान आइआरसीटीसी सीधे करेगा
  • तेजस ट्रेन में कोई भी रियायती टिकट जारी नहीं होगा
  • डायनामिक फेयर व्यस्त, त्यौहार, लीन सीजन के आधार पर
  • फरवरी, मार्च और अगस्त लीन सीजन, किराया कम होगा
  • तेजस में तत्काल/प्रीमियम तत्काल कोटा की सुविधा नहीं

 

ये कुछ खास बातें

  • 60 दिन पहले से ऑनलाइन बुकिंग
  • 05 वर्ष से कम के बच्चों का किराया नहीं
  • 05 वर्ष से अधिक उम्र पर पूरा किराया देय
  • 05 मिनट पहले तक बनेंगे करंट टिकट
  • 03 घंटा 55 मिनट तक बनेंगे करंट टिकट
  • 78 सीट की चेयरकार बोगी ग्रुप बुकिंग के लिए
  • 03 दिन पहले तक ऑनलाइन होगी ग्रुप बुकिंग
  • 05 सीट एक्जीक्यूटिव विदेशी यात्रियों के लिए
  •  50 सीट एसी चेयरकार में विदेशी यात्रियों की
  •  56 सीटें होंगी एक्जीक्यूटिव क्लास में
  •  758 सीटें होंगी नौ एसी चेयरकार बोगियों में

यह भी जानना जरूरी

  • यात्रियों का सामान घर से बोगी तक पहुंचाने की मिलेगी सुविधा
  • लखनऊ व नई दिल्ली में यात्रियों की डिमांड पर मीटिंग के इंतजाम
  • चाय एवं अल्पाहार के अलावा वापसी में रात्रि भोजन की व्यवस्था
  • ऑन-बोर्ड आतिथ्य सेवाएं प्रशिक्षित महिला एवं पुरूष कर्मचारी देंगे

 

सुविधाओं से लैस तेजस

  • मूविंग टॉकीज, सहित विश्वस्तरीय ट्रेनों के फीचर
  • धूम्रपान पर बजेंगे अलार्म, लगेगा ऑटोमेटिक ब्रेक
  • हर सीट पर होगा अटेंडेंट बुलाने को बटन
  • पढ़ाई के लिए रीडिंग बटन की सुविधा
  • बटन से खुलेंगे-बंद होंगे खिड़की के पर्दे
  • बोगी के दोनों छोर पर सेंसर युक्त स्लाइडिंग दरवाजे
  •  करीब पहुंचने पर खुद ही खुल सेंसर डोर जाएंगे
  • करीब जाते ही खुद खुल जाएंगी सेंसर वाली डस्टबिन
  • संदिग्धों पर नजर रखेंगे बोगी में लगे छह सीसी कैमरे
  • चेन की जगह इमरजेंसी में ट्रेन रोकने के लिए हैंडल
  • ऑटोमेटिक स्मोक एंड हिट डिटेक्शन अलार्म युक्त
  • बोगी में विजुअल और एनाउंस सिस्टम से देंगे सूचना
  • हर बोगी में एंटी ब्रेकिंग सिस्टम, पहिए जाम नहीं होंगे
  • ओएचई की बिजली बोगियों के लिए कनवर्ट होगी
  • शौचालय में कितना पानी है यह बताएगा इंडीकेटर
  • गार्ड के पास होगा गेट खोलने और बंद करने का बटन
  • हर बोगी में सूप व कॉफी बनाने के लिए मिनी किचन
  • बोगी में होंगे दो सेंट्रल टेबल, पब्लिक इंफारमेशन डिस्प्ले

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप