लखनऊ, जेएनएन। 18 से 60 वर्ष की उम्र तक रक्तदान जरूर करें, जिससे किसी जरूरतमंद को जीवनदान दिया जा सके। प्रदेश में हर साल कुल 22 लाख यूनिट खून की जरूरत होती है, जिसमें से केवल 12.30 लाख यूनिट ही उपलब्ध हो पाता है। इसमें भी स्वैच्छिक रक्तदान केवल 47 फीसदी ही होता है। 

ये बातें, चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग में प्रमुख सचिव, डॉ. देवेश चतुर्वेदी ने कहीं। वह मंगलवार को राष्ट्रीय स्वैच्छिक रक्तदान दिवस पर कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में प्रदेश में केजीएमयू को 66,663 यूनिट ब्लड कलेक्शन के लिए प्रथम पुरस्कार दिया गया। 

राज्य रक्त संचरण परिषद उप्र, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन व उप्र राज्य एड्स नियंत्रण सोसाइटी की ओर से गोमतीनगर स्थित इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान सभागार में आयोजित समारोह के दौरान उन्होंने कहा कि यदि हमें रक्त की आपूर्ति में सुधार करना है तो स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा देना होगा। वहीं, प्रमुख सचिव नागरिक सुरक्षा एवं राजनीतिक पेंशन राजन शुक्ला ने कहा कि जब तक हम आर्टिफिशियल रक्त नहीं बना लेते, बीमारी में रक्त चढ़ाने के लिए रक्तदान ही एकमात्र सहारा है। 

इनको मिला सम्मान

पूरे प्रदेश में केजीएमयू को 66,663 यूनिट ब्लड कलेक्शन के लिए प्रथम पुरस्कार दिया गया। वहीं, जिला अस्पताल मुजफ्फरनगर को 17,900 यूनिट ब्लड कलेक्शन, जिला अस्पताल गोरखपुर के डॉ. सुरेंद्र कुमार यादव, प्यारेलाल शर्मा जिला अस्पताल मेरठ के डॉ. कौशलेंद्र सिंह व संयुक्त जिला अस्पताल बिजनौर के डॉ. संजय कुमार शंकर को स्वैच्छिक रक्तदान के लिए सम्मानित किया गया।

सबसे ज्यादा स्वैच्छिक ब्लड कैंप लगाने के लिए जीएसबीएम कानपुर, गाजियाबाद, सबसे ज्यादा ब्लड कलेक्शन यूनिट में प्यारेलाल शर्मा मेरठ, मेडिकल कॉलेज प्रयागराज को पुरस्कृत किया गया। वहीं, संत निरंकारी मंडल लखनऊ ने 14 शिविर में 2434 यूनिट एकत्र कर प्रथम रहा। आइआइटी फाउंडेशन कानपुर को 13 कैंप में 454 यूनिट सहित विभिन्न जिलों के रक्तकोषों, संस्थाओं व रक्त दाताओं को भी सम्मानित किया गया। समारोह में कामिनी चौहान परियोजना निदेशक व उपाध्यक्ष राज्य रक्त संचरण परिषद, जसजीत कौर अपर परियोजना निदेशक एवं निदेशक राज्य रक्त संचरण परिषद, अपर मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, महानिदेशक परिवार कल्याण डॉ. उमाकांत, सीएमओ, डॉ. नरेंद्र अग्रवाल व डॉ. गीता अग्रवाल सचिव राज्य रक्त संचरण परिषद भी मौजूद रहे।

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप