लखनऊ, जेएनएन। वाराणसी में सोमवार को नव्य श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण के बाद विरोधी दल के नेताओं भड़क गए हैं। पीएम नरेन्द्र मोदी ने यहां पर दिन में जब श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर के जीर्णोद्धार कार्य का लोकार्पण किया।

समाजवादी पार्टी से राज्यसभा सदस्य जया बच्चन ने कहा कि जैसे-जैसे यूपी का चुनाव आ रहा है वो लाल टोपी से इतने खबराएं हुए हैं कि फीते पर फीते काट रहें और लगातार शिलान्यास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि काशी विश्वनाथ मंदिर को अच्छी तरह बनने के लिए वहां पर जिनकी छोटी-छोटी दुकानें थी उनको आपने तो वहां से हटा दिया। क्या आपने उन्हें मुआवजा दिया।

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला ने कहा कि वो धर्म की सेवा कर रहे हैं यह तो अच्छी बात है लेकिन उन्हें दूसरे धर्मों को भी तवज्जो देना चाहिए। वो सिर्फ एक धर्म के प्रधानमंत्री नहीं है पूरे देश के है और भारत में बहुत सारे धर्म है।

एनसीपी के नवाब मलिक ने कहा कि चुनाव से पहले प्रधानमंत्री ने कहा था कि मां गंगा ने मुझे बुलाया है। 7.5 साल में गंगा सफाई अभियान का क्या हुआ इसका जवाब मोदी सरकार अब तक नहीं दे पाई। कई मंत्री बदल गए लेकिन गंगा सफाई अभियान पूरी तरह से अधूरा है। मोदी जी गंगा को स्वच्छ करने में नाकाम हैं।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव से रविवार को ही दावा किया था कि उन्होंने वाराणसी में श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के इस कार्य का शिलान्यास किया था। उन्होंने कहा कि आप सभी जानते हैं कि मुख्यमंत्री ने इटावा में जिन परियोजनाओं का उद्घाटन किया था, उन्हें किस सरकार ने शुरू किया था। जेल और पशु सफारी अभी भी शुरू नहीं हुई है, क्रिकेट स्टेडियम खंडहर बन गया है, जबकि यहां पर आइपीएल भी हो सकता है। उन्होंने इटावा के साथ भेदभाव किया है। यूपी की जनता इस बार बीजेपी सरकार को हटा देगी। जो एक्सप्रेस-वे बने हैं, वह सभी समाजवादी पार्टी के एक्सप्रेस-वे हैं। बीजेपी हमारे सामने झूठ बोल सकती है, लेकिन भगवान के सामने नहीं है।

योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक ने इन सभी पर हमला बोला है। पाठक ने कहा कि विरोधी दल के नेताओं को हिंदू धर्म से डर लगने लगा है। यह लोग इस प्रकार से इसको (हिंदू धर्म) बता रहे हैं जैसे वह भारत में नहीं बल्कि किसी विदेश में रह रहे हैं। उत्तर प्रदेश के लोगों को और मझे इसका दुख पहुंचा हैं। यह सब लगातार भाजपा से डर रहे हैं।  

Edited By: Dharmendra Pandey