सीतापुर, जेएनएन। करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी मंगलवार को महमूदाबाद में योगी सरकार और प्रशासन पर जमकर बरसे। उनके निशाने पर भगवा वेष में कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले रहे। हत्यारों पर इनाम रखा गया है। पांच सौ लोग यहां लगा रखे हैं, दो-चार दिन पहले अगर लगा दिए होते तो ये घटना नहीं होती। 

राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी के परिवार से मिलने पहुंचे थे। करीब बीस मिनट तक बातचीत करने के बाद वे बाहर निकले और मीडिया से रूबरू हुए। कहा घटना के दिन गनमैन नहीं थे तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। हम तो कहते हैं आजम खां और नसीमुद्दीन के गनमैन हटाकर देखिए क्या तमाशा होता है। जब तक कमलेश और उनके परिवार को इंसाफ नहीं मिल जाता हम झुकेंगे नहीं। आखिरी दम तक लड़ेंगे। कहा कि, योगी जी से उन्हें कोई शिकायत नहीं है, बस एक शिकायत है परिवार को नजरबंद क्यों किया गया है, वह परिवार को इंसाफ दिला दें। भगवा भेष में हमलावर लखनऊ में कमलेश की हत्या कर आराम से चले गए। यह मुख्यमंत्री के लिए शर्म की बात है। योगी को हिंदूवादी छवि का नेता माना जाता है। उनके राज में यह घटना सरकार के लिए कलंक है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष यहीं पर नहीं रुके। कमलेश के परिवार से मिलने के लिए रोके जाने पर उन्होंने योगी को आगाह करते हुए और पुलिस-शासन को आड़े हाथों लिया। बोले, ये अधिकारी पूर्ववर्ती सरकारों के हैं। आपके खिलाफ भी साजिश हो रही है। ये चाहते हैं कि सिंह सभा, करणी सेना पर लाठी चार्ज हो और ये बात दिल्ली तक प्रधानमंत्री के पास पहुंचे। इसके बाद आपको हटाया जाए, जो अधिकारी हमारे साथ ऐसा कर रहे हैं वह आम आदगी के साथ कैसा सुलूक करते होंगे। यूपी सरकार की अब तक की कार्रवाई को जीरो करार दिया। इस दौरान करणी सेना के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह रघुवंशी, सिंह महा संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एसएस टाइगर, सिंह महासभा के विजय कौशिक समेत करीब 20 लोग मौजूद रहे। सभी ने कमलेश तिवारी के परिवार से मिलकर इंसाफ दिलाने का और हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप