लखनऊ, जेएनएन। केजीएमयू के फॉर्माकोलॉजी विभाग में पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. एके सक्सेना के पहुंचने पर बवाल हो गया। डॉ. एके सक्सेना का आवास गायिका कनिका कपूर के फ्लैट के पास है। स्वास्थ्य विभाग ने इलाके में सैनिटाइज कर लोगों की स्कैनिंग भी की। हालांकि, क्षेत्र में कोई अन्य पॉजिटिव नहीं निकला है। 

  

वहीं, गुरुवार को डेढ़ बजे अचानक डॉ. एके सक्सेना विभाग में पहुंचे। इस दौरान वह वर्तमान विभागाध्यक्ष डॉ. आमोद सचान के कमरे में गए। इसी बीच डॉ. संजय खत्री पहुंच गए। उन्होंने पूर्व शिक्षक का घर कनिका के बगल में बताया। ऐसे में कक्ष-विभाग को सैनिटाइज कराने के लिए कहा। इसी को लेकर दोनों में कहासुनी हो गई। पूर्व शिक्षक पर डॉ. खत्री ने होम क्वारंटाइन के नियमों का पालन न करने का आरोप लगाया। संजस खत्री ने मामले की शिकायत पुलिस से करने का दावा भी दिया। 


क्या कहते हैं जिम्मेदार 

  • फार्माकोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ आमोद कुमार सचान के मुताबिक, पूर्व एचओडी डॉ. एके सक्सेना आए थे। इस दौरान डॉ.खत्री से उनकी कहा सुनी हो गई। उन्होंने कनिका के घर के बगल से आने पर संक्रमण का खतरा बताया।
  • फार्माकोलॉजी पूर्व विभागाध्यक्ष के मुताबिक, मेरा घर कनिका से 400 मीटर दूरी पर है। क्षेत्र में एक भी और पॉजिटिव केस नहीं आया है। डॉ. खत्री पूर्वाग्रहों से ग्रसित हैं। मैं अपनी पत्नी की दवा लेने गया था। 
  • शिक्षक डॉ. संजय खत्री ने बताया कि डॉ. एके सक्सेना कनिका के घर के पास रहते हैं। सभी को होम क्वारंटाइन को कहा गया है। उन्हें टोका, तो अभद्रता की। इससे विभाग में संक्रमण का खतरा है। मामले की पुलिस से शिकायत की है। 
  • एसीएमओ डॉ. एमके सिंह का कहना है कि कनिका के इलाके में रहने वाले अन्य लोगों में कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला। बावजूद, सभी को 14 दिन त होम क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी गई है। 
  • केजीएमयू प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक, पूर्व शिक्षक डॉ. एके सक्सेना के मामले की जानकारी केजीएमयू प्रशासन को नहीं है। यदि कोई शिकायत आती है,तो आगे की कार्रवाई पर विचार किया जाएगा। 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस