लखनऊ, (निशांत यादव)। सीरिया, फिलिस्तीन जैसे दुश्मनों से घिरे इजरायल अपनी तकनीक के भरोसे दुनिया को अपनी ताकत का अहसास करा रहा है। इजरायल का मिशन है कि तकनीक इतनी उन्नत हो कि एक अंगुली से दबा बटन एक हजार दुश्मन को मार गिराए। रेकी और सर्विलांस के साथ अब बमवर्षक व मिसाइल हमले वाले ड्रोन इजरायल का मुख्य हथियार बन गया है। इजरायल भारत के साथ अब मानवरहित घातक हथियार लाना चाहता है। 

इजरायल ने पिछले छह दशक में स्वदेशी तकनीक को अपनाकर उसे अपग्रेड करने की मुहिम छेड़ रखी है। इजरायल का मानना है कि भारत भी उसकी ही तरह दुश्मनों से घिरा देश है। भारत में भी वह क्षमता है जो उसे दुनिया के चंद शक्तिशाली देशों में शुमार करती है। अब जरूरत तकनीक को और तेजी से बदलने की है।

डिफेंस एक्सपो में अमेरिका, रूस, यूके के बाद इजरायल ही ऐसा देश है, जहां दुनिया भर के खरीदार अपनी जिज्ञासाओं को समेटे पहुंच रहे हैं।

इजरायल की डिजिटल क्षेत्र की कंपनी ईसीआइ के प्रोडक्ट मैनेजर तजाफरीर तजूर कहते हैं कि हमारे देश में हमेशा उच्चस्तरीय तकनीक बनाने पर जोर रहता है। भावी चुनौतियों के लिए नए हथियारों को बनाने की दिशा में काम चल रहा है। दुश्मन के ठिकाने की सटीक जानकारी और उस पर अपनी तकनीक से करारा प्रहार, यह सामरिक रणनीति का हिस्सा है। मिसाइल बरसाने वाले ड्रोन के साथ इजरायल समुद्री खतरे का करारा जवाब देने वाली वर्टीकल टेकऑफ व लैंडिंग (वीटीओएल) सिस्टम पर भी काम कर चुका है। इजरायल शक्तिशाली बनने के साथ शांति भी चाहता है।

एडवांस डिफेंस सिस्टम बनाने वाली कंपनी रफायल के मार्केटिंग हेड गाल पेपिअर बताते हैं कि 1960 में इजरायल सरकार ने कहा कि हम किसी दूसरे पर भरोसा नहीं कर सकते। रक्षा उत्पादन में हमको आत्मनिर्भर होना पड़ेगा। इजरायल के लोग इनोवेटिव होते हैं। हमने रडार से लेकर एंटी टैंक हथियार, एयर टू सरफेस मिसाइल और एयर डिफेंस के क्षेत्र में बेहतर काम किया।

इससे मारा गया ईरानी कमांडर

अमेरिकी ड्रोन ने इराक में मिसाइल गिराकर जिस ईरानी कमांडर मेजर जनरल कासिम सुलेमानी को मारा था, उमें इजरायल के बने आइई एमएचआर रडार का इस्तेमाल किया गया था। इस रडार को एक्सपो में लाया गया है। कंपनी राडा के निदेशक बिजनेस डेवलपमेंट जूविका वेबर कहते हैं कि यह रडार नैनो ड्रोन को 10 किलोमीटर, तो नौसेना के बड़े वेसेल्स को 80 किलोमीटर तक देख सकता है। इसमें इलेक्ट्रॉनिक स्कैंड एंटीना, इलेक्ट्रॉनिक काउंटर काउंटमेजर है, जिसने इराक में जनरल सुलेमानी की सटीक लोकेशन अमेरिका को भेजी थी।

स्पाइक मिसाइल का बढ़ा बाजार

इजराइल के पास एंटी टैंक 5जी मिसाइल स्पाइक है, जो टारगेट पर अचूक निशाना लगाती है। इजराइल की रफायल कंपनी की एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल स्पाइक की चार मिसाइल की पूरी फैमिली है। इसकी रेंज दो से 30 किमी. तक होती है। भारत की सेना के पास फिलहाल चार किलोमीटर तक मार करने वाली स्पाइक एलआर मिसाइल है।  

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस