सीतापुर, संवाद सूत्र। भतीजे के तिलक समारोह में चाचा ने हर्ष फायरिंग की। गोली लगने से परिवार की ही महिला की मौत हो गई। मौत उपचार के लिए लखनऊ ले जाते समय रास्ते मे हुई। वहीं, महिला को गोली लगते ही तिलक समारोह में अफरातफरी मच गई। मामला संदना के महसुई गांव का है। पुलिस जांच-पड़ताल में जुटी है।मंगलवार की देर शाम संदना थाने के गांव महसुई में रमेश चंद्र के लड़के नीरज का तिलक कार्यक्रम चल रहा था। मेहमान व गांव के लोग कार्यक्रम में व्यस्त थे। इसी बीच नीरज के चाचा ने हर्ष फायरिंग की।

गोली तिलक समारोह में शामिल होने आई अंजू पुत्री रामदास को जा लगी। गोली लगते ही वह गिर गई। कार्यक्रम में अफरातफरी मच गई।  परिवारजन आनन फानन में महिला को लेकर अस्पताल गए हैं। बताया जा रहा है कि लखनऊ पहुंचने से पहले ही महिला ने दम तोड़ दिया। उधर, हर्ष फायरिंग की जानकारी पर रामगढ़ चौकी व थाना पुलिस मौके पर पहुंची। गोली चलाने और लगने से घायल होने वाली महिला के बारे में जानकारी जुटाई गईं। मौजूद लोगों के बयान लिए गए। रामगढ़ चौकी प्रभारी कृष्ण कुमार ने बताया कि हर्ष फायरिंग की घटना हुई है। गोली लगने से घायल महिला को लखनऊ अस्पताल भेजा गया है। जांच की जा रही है। 

मातम में बदली खुशियांः जिस घर मे तिलक समारोह की खुशियां मनाई जा रही थीं, हर्ष फायरिंग के बाद पलक झपकते ही मातम का माहौल हो गया। बताया जा रहा है कि चाचा में कई राउंड फायर किए। एक गोली महिला को जा लगी। यह भी कहा जा रहा है कि चाचा किसी नौकरी में है। 

इमलिया सुल्तानपुर के गांव में ब्याही थी मृतकाः बताया जा रहा है कि तिलक समारोह में गोली लगने से दम तोड़ने वाली अंजू की शादी इमलिया सुल्तानपुर इलाके के गांव बेलहरा में हुई थी। मृतका की एक ढाई वर्ष की बेटी भी है। मौत की सूचना पहुंचते ही ससुराल में भी कोहराम मच गया। परिवारजन रात में ही महसुई के लिए निकल गए।

महसुई में हर्ष फायरिंग की घटना हुई है। गोली लगने से घायल महिला की मौत हो गई। -सुशील कुमार, सीओ मिश्रिख

Edited By: Vikas Mishra