लखनऊ, जागरण टीम। पारा इलाके के हंसखेड़ा काशीराम कालोनी में रविवार तड़के हुई सननीखेज वारदात में वृद्धा सरोज सोनी की घर के अंदर हत्या कर दी गई। दो बदमाशों ने पहले उनके सिर पर हथौड़े से प्रहार किया और फिर दाहिने हाथ की नस काट दी। वारदात के पहले वृद्धा के सात वर्षीय पौत्र रौनक के मुंह में कपड़ा ठूंसकर उसे कमरे में बंद कर दिया था। घटना की जानकारी पर पहुंची पुलिस, फोरेंसिक टीम और डाग स्क्वायड ने मौके से साक्ष्य जुटाए। वारदात में किसी करीबी की आशंका जताई जा रही है। पुलिस कई बिंदुओं पर हत्याकांड की पड़ताल कर रही है।

मूल रूप से बाराबंकी राम सनेही घाट काशीपुर निवासी सरोज सोनी कई साल से पौत्र के साथ काशी राम कलोनी में रहती थीं। घर खर्च चलाने के लिए पास में ही उनकी पान मसाले की गुमटी थी। रविवार तड़के दरवाजे पर दस्तक हुई। सरोज ने दरवाजा खोला। दो लोग अंदर घुसे। उन्होंने सरोज को पकड़ लिया। खटपट से रौनक भी जग गया। रौनक ने बताया कि उसने विरोध किया तो एक बदमाश ने उसके मुंह में कपड़ा ठूंसकर कमरे के अंदर धक्का दे दिया और दरवाजा भेड़ दिया। घटना से रौनक डर गया। एक बदमाश ने रौनक के सिर पर हथौड़े से वार किया और दूसरे ने दाहिने हाथ की नस काट दी।

वारदात को अंजाम देकर बदमाश भाग निकले। कुछ देर बाद डरा हुआ रौनक कमरे से निकला तो उसने दादी के शरीर में कोई हरकत नहीं हो रही थी। उसने भागकर पड़ोस में रहने वाले शाहिन, अनीस और नफीस को बताया। पुलिस को सूचना दी गई। इंस्पेक्टर पारा राजेश कुमार, एसीपी आशुतोष कुमार मौके पर पहुंचे। एसीपी ने बताया कि वृद्धा के बेटे राधेश्याम की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर मामले की कई बिंदुओं पर जांच की जा रही है। 

स्कूटी से आए थे बदमाशः पुलिस की पड़ताल में पता चला कि बदमाश स्कूटी से आए थे। वहीं, रौकन ने बताया जब वारदात के बाद बदमाश भागे तो वह कमरे से निकला उसने बाहर की ओर झांककर देखा तो दो लोग स्कूटी से जा रहे थे। रौकन ने एक हत्यारे की पहचान भी पुलिस को बताई है। पुलिस उसके आधार पर तलाश में दबिश दे रही है। 

दहशत के 10 मिनटः रौकन ने बताया कि हत्यारे घर में करीब 10 मिनट तक रहे। उसके विरोध पर हत्यारों ने उसे धमकाते हुए मुंह में कपड़ा ठूंसकर कमरे में बंद कर दिया। इस बीच वह छुपकर देख रहा था। दादी चीख रही थीं और हत्यारे उन्हें मार रहे थे। घटना से वह बहुत डर गया था। उसकी चीखने की हिम्मत नहीं पड़ी। 

वृद्धा से हुआ हत्यारों का संघर्षः रौनक ने बताया कि दादी हत्यारों से भिड़ गई। जब हत्यारों ने दादी को भिड़ते विरोध करते देखा तो एक ने उनके हाथ बांध दिए थे। उसके बाद दूसरे ने हथौड़े से सिर पर वार किया और फिर हाथ की नस काटी थी। पुलिस को भी मौके पर वृद्धा के हत्यारों से संघर्ष के निशान मिले हैं। डाग स्क्वायड घटनास्थल से कुछ दूरी पर जाकर बैठ गया।

Edited By: Vikas Mishra