हरदोई, संवाद सूत्र। माता पिता की जरा सी लापरवाही भारी पड़ सकती है। एयरगन खेल रहे बच्चे ने पड़ोसी बच्चे को गोली मार दी, जोकि उसके सिर में लगी। घटना 21 जुलाई की है, बच्चे का लखनऊ में उपचार होता रहा। बच्चे की जान तो बच गई लेकिन एक तरफ का हिस्सा लगवाग्रस्त हो गया, उसके पिता ने कार्रवाई की मांग उठाई है।शहर के मुहल्ला अशराफ टोला निवासी अभय द्विेवदी का पुत्र विनायक द्विवेदी 21 जुलाई को छत पर खेल रहा था। पड़ोसी अमित पांडेय का भी 10 वर्षीय पुत्र अपनी छत पर खेल रहा था। आरोप है कि उसने अपनी छत से ही विनायक द्विेवदी के एगरगन से गोली मार दी जोकि उसके सिर में लगी।

बाल संरक्षण आयोग समेत उच्चाधिकारियों को भेजे गए शिकायती पत्र में अभय द्विवेदी ने बताया कि बच्चे का 11 दिन लखनऊ में उपचार चलता रहा। अब उसकी अस्पताल से छुट्टी हो गई है, लेकिन उसका बायां हाथ और पैर निश्क्रिय है। चिकित्सक का कहना है कि वह स्वस्थ होगा या नहीं यह निश्चित नहीं है। पिता के अनुसार सेठ जयपुरिया स्कूल में कक्षा आठ का छात्र विनायक काफी मेधावी है और उसकी पढ़ाई के साथ विज्ञान में विशेष रुचि है। नोएडा में वह प्रतियोगिता में भाग ले चुका है। उन्होंने इस प्रकऱण में दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की मांग उठाई है।

इंटरनेट मीडिया पर चल रहा मामलाः एयरगन से गोली लगने का मामला इंटरनेट मीडिया पर चल रहा है। बच्चे के स्वजन ने इसे जस्टिस फार विनायक नाम दिया है, लोग अपनी अपनी बात लिख रहे हैं। अभी बच्चे की स्थिति अच्छी नहीं है। 

मामला संज्ञान में नहीं हैः क्षेत्राधिकारी नगर विकास जायसवाल ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है और न ही कोई शिकायत आई है। अगर परिवारीजन की ओर से शिकायत आने पर जांच कर जो भी दोषी होगा उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Vikas Mishra