रायबरेली, जेएनएन। लखनऊ-प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग किनारे एक ढाबे के पीछे एक बाग में मिले युवती के अधजले शव की शिनाख्‍त रविवार को हुई। अपहरण के बाद युवती की हत्या की बात भी सामने आ चुकी है। हालांकि, शव मिलने के 24 घंटे बाद भी आरोपितों का पता नहीं चला, जिन्होंने खौफ को भी डरा देने वाले अंदाज में युवती को मार डाला।  

ये है पूरा मामला 

मामला क्षेत्र के गंगागंज में शोरा गांव का है। यहां स्थित ढाबे के पीछे यूकेलिप्टस के बाग में बीते दिन एक 21 वर्षीय युवती का अधजला शव पड़ा मिला था। जिसकी पहचान बछरावां थाना क्षेत्र के कस्बे की निवासी के रूप में हो गई है। पिता कस्बे की एक बाजार में पान की दुकान करते हैं। जबकि युवती हरचंदपुर क्षेत्र के ही एक महाविद्यालय में बीएससी अंतिम वर्ष की छात्रा थी। बताया जा रहा है कि शनिवार को बेटी के घर न पहुंचने पर परिवारीजन भी चिंतित थे। रविवार को जब अखबारों में घटना की खबर छपी तो दोपहर बाद घरवाले थाने पहुंचे। जिसके बाद मृतका की पहचान हो सकी। करीब 20 घंटे बाद पहचान की कड़ी खुली तो अब खाकी हत्यारों का सुराग ढूंढने में जुट गई है। 

मातहतों के साथ मौके पर पहुंचे आइजी

रविवार की शाम लखनऊ जोन के पुलिस महानिरीक्षक एसके भगत हरचंदपुर पहुंचे। घटनास्थल का मौका का मुआयना किया। इस दौरान फॉरेंसिक टीम की एक्सपर्ट भी मौजूद थीं। मौका-ए-वारदात का जायजा लेने के बाद वह थाने पहुंचे। यहां मृतका के परिवारजन से घटना को लेकर पूछताछ की। 

युवती का हुआ था अपहरण : आइजी 

करीब सवा घंटे मामले में छानबीन के बाद आइजी ने कहा कि युवती का शनिवार को अपहरण हुआ था। उसने इसकी जानकारी भी अपने घर वालों को दी थी। पुलिस टीमें लगाई गईं हैं। जो अपहरणकर्ताओं का पता लगा रही हैं। जल्द से जल्द घटना का राजफाश किया जाएगा। 

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस