लखनऊ, जागरण संवाददाता। डिजिटल शक्ति के बारे में बात करने के लिए बुधवार को डिजिटल मार्केटिंग समिट ''द डिजी कॉनक्लेव इंडिया'' का आयोजन किया गया। ''वर्चुअल बॉक्स'' द्वारा हुए इस आनलाइन कार्यक्रम में कई सत्रों में डिजिटल मार्केटिंग के वर्तमान व भविष्य की संभावनाओं पर चर्चा की गई। कान्क्लेव में वैश्विक महामारी के बाद डिजिटल युग, शिक्षा के क्षेत्र में डिजिटल क्रांति, डिजिटल मीडिया क्या है, सोशल मीडिया टूल, ई-कॉमर्स व डिजिटल मार्केटिंग, डिजिटल मीडिया व प्रिंट मीडिया, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, डिजिटल मार्केटिंग, साइबर क्राइम और डिजिटल मीडिया के प्रभाव जैसे विषयों पर बातचीत हुई। 

मुख्यमंत्री के सचिव व आइएएस आलोक कुमार ने कहा कि वैश्विक महामारी के दौरान डिजिटल मीडिया ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। हमने डिजिटल शक्तियों का इस्तेमाल करके ही जन-जन तक सहायता पहुंचाई। आमजनमानस को सही जानकारियां मिलीं। इस सेक्टर ने महामारी के दौरान बड़ी मदद की थी। यूके-इंडिया चैंबर्स आफ कामर्स के प्रमुख जयंत कृष्णा ने बताया कि फेसबुक, यूट्यूब, ट्विटर आज के समय में डिजिटल मीडिया के बेहतरीन उदाहरण हैं। उन्होंने डिजिटल मीडिया की पत्रकारिता, ई-कॉमर्स जैसे क्षेत्रों में भी उपयोगिता समझाई। ''वर्चुअल बॉक्स'' की सीईओ चारु श्रीवास्तव ने कहा कि यह पहली बार है, जब उत्तर प्रदेश में इस तरह के कॉन्क्लेव का आयोजन हो रहा है। उन्होंने समिट में हिस्सा लेने वाले 1100 से ज्यादा प्रतिभागियों को धन्यवाद कहा। ''वर्चुअल बॉक्स'' का प्रतिनिधित्व कर रहे राजीव कुमार ने बताया कि हम आगे भी ऐसी कॉन्क्लेव कराते रहेंगे। जिससे आज का युवा न सिर्फ सीख ले सकता है, बल्कि तमाम तरह के विचारों को अपनाकर एक सफल इंसान भी बन सकता है।

ई-कॉमर्स और डिजिटल मार्केटिंग सेशनः ''ई-कॉमर्स और डिजिटल मार्केटिंग के नफा-नुकसान'' सेशन विशेषकर उन लोगों के लिए रखा गया था, जिन्होंने अपना नया बिजनेस शुरू किया है। साथ ही, वह अपना बिजनेस डिजिटल मार्केटिंग के माध्यम से आगे बढ़ाना चाहते हैं। सैजसम कंसल्टेंट्स की फाउंडिंग पार्टनर समीक्षा शर्मा ने कहा कि आज के दौर में इंसान बिल्कुल इंतजार नहीं करना चाहता, उसे तुरंत उत्तर चाहिए होता है। समीक्षा सरन ने नए व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए डिजिटल मार्केटिंग को अपनाने की बात कही। फीनिक्स मिल्स के निदेशक (उत्तर) संजीव सरीन ने कहा कि कई ग्राहक जो पहले मॉल्स व स्टोर्स में आकर शॉपिंग करते थे, उनका स्वभाव बदला है। वह अब ऑनलाइन स्टोर्स से सामान लेते हैं। पार्टनर सेठ एंड एसोसिएट्स चार्टेड अकाउंटेंट्स के ध्रुव सेठ ने ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों मार्केटिंग के महत्व को समझाया। इस सेशन का संचालन पुनीत जैन ने किया।

Edited By: Vikas Mishra