सीतापुर, जेएनएन। मछरेहटा थाना क्षेत्र के राजा गांव के मजरा कैमा में शुक्रवार रात किसी बात को लेकर पति-पत्नी आपस में ही भिड़ गए स्थिति इतनी अधिक बिगड़ गई कि पति ने पत्नी पर धारदार हथियार से कई वार कर दिए जिससे उसकी घर में ही मौके पर मौत हो गई। इसके बाद पति ने भी लटक कर जान दे दी।

बताया जा रहा है कि शुक्रवार रात गांव में ही तिलक समारोह चल रहा था जिसमें महेंद्र प्रताप की पत्नी पम्मी गई हुई थी महेंद्र प्रताप इस कार्यक्रम में नहीं गया था उसकी पत्नी लौटकर रात के करीब 11.30 बजे के दौरान घर लौटी। इसी के बाद ही आपस में विवाद हुआ। घर में महेंद्र प्रताप और उसकी पत्नी पम्मी ही रहती थी। अभी इस दंपती के बच्चे नहीं थे। इन दोनों की वर्ष 2017 में ही शादी हुई थी। बताया जा रहा है कि जब पम्मी रात में तिलक से लौटी तो उसका पति उससे नाराजगी जाहिर कर रहा था। इसमें पम्मी की प्रतिक्रिया पर उसने मारपीट शुरू कर दी थी। जिस पर पति महेंद्र प्रताप पत्नी पम्मी पर हमलावर हो गया। पत्नी को मौत के घाट उतारने के बाद महेंद्र प्रताप खुद अपने कमरे में जाकर लटक गया। शनिवार दिन चढ़ते जब महेंद्र प्रताप के घर से कोई बाहर नहीं निकला तो आसपास के लोगों में विभिन्न तरह से चर्चा शुरू हो गई। किसी पड़ोसी ने उनके घर में जाकर देखा तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। पम्मी का खून में लथपथ शव घर के आंगन में पढ़ा था, जबकि उसके पति का शव कमरे में फंदे से लटक रहा था। हाल देखकर ग्रामीणों ने पुलिस को खबर की। 

मौके पर सीअो मिश्रित महेंद्र प्रताप सिंह और मछरेहटा थानाध्यक्ष राज कुमार पहुंचे। घटना के निरीक्षण के बाद पुलिस ने मृतक दंपती के शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इसके बाद पुलिस ने आज पड़ोसियों से संबंधित मामले में जानकारी जुटाई। थाना अध्यक्ष राज कुमार ने बताया कि मौके पर हंसिया बरामद हुआ है। मृतक पम्मी के गले, सीने और शरीर के अन्य हिस्सों में धारदार हथियार के गहरे निशान पाए गए हैं।

पांच मई को पिता के साथ ससुराल आई थी पम्मी: महेंद्र प्रताप का विवाह वर्ष 2017 में मानपुर थाना क्षेत्र के मौहारी गांव में अमर सिंह की बेटी पम्मी के साथ हुआ था। मम्मी अपने मायके से पांच मई को ही अपने पिता के साथ ससुराल लौटी थी।

माता-पिता भी नहीं बता पा रहे घटना का कारण: बेटे और बहू की मौत का कारण मृतक महेंद्र प्रताप के पिता बड़कऊ और माता कृष्णा देवी भी नहीं बता पा रही हैं। बुजुर्ग माता-पिता बेटे और बहू की मौत पर दहाड़ मार कर रो रहे थे भाई देवेंद्र और बहन रीता भी बिलख रहे थे। महेंद्र व उसकी पत्नी पम्मी में विवाद किस कारण हुआ, यह बात परिवार का कोई भी सदस्य स्पष्ट नहीं कर रहा था।

चार भाई-बहन में दूसरे नंबर था महेंद्र: मछरेहटा थानाध्यक्ष राज कुमार ने बताया कि मृतक महेंद्र प्रताप चार भाई बहन है। इनमें महेंद्र दूसरे नंबर का था। सबसे छोटी बहन रीता की शादी तय है। महेंद्र की बहन का पांच मई को तिलक था। घर में 20 जून को शादी है। शादी  के कार्यक्रम की तैयारियां चल रही थी।