लखनऊ, राज्य ब्यूरो। होमगार्ड के स्थापना दिवस के अवसर पर छह दिसंबर को होमगार्ड विभाग के कर्मचारियों व होमगार्ड जवानों को भत्तों का उपहार मिलने की उम्मीद है। होमगार्ड मुख्यालय ने इसका प्रस्ताव तैयार कर शासन को भेजा है। स्थापना दिवस समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ परेड की सलामी लेने के साथ ही होमगार्ड विभाग का एप भी लांच करेंगे। एप में होमगार्ड जवानों का पूरा ब्योरा होगा, जिसे एनआइसी ने तैयार किया है। एप के माध्यम से जवानों की ड्यूटी व उनके मानदेय के भुगतान समेत अन्य जानकारियां आनलाइन होंगी।

होमगार्ड मुख्यालय में इन दिनों स्थापना दिवस की तैयारियां चल रही हैं। वर्तमान सरकार ने ही होमगार्ड जवानों व अवैतनिक कर्मियों को वर्दी भत्ते के रूप में एकमुश्त तीन हजार रुपये प्रदान किए जाने का निर्णय किया था। कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर पुलिस के साथ डटकर चुनौतियों का सामना करने वाले होमगार्ड जवानों का मानदेय भी बढ़ाया जा चुका है।

सूत्रों का कहना है कि होमगार्ड विभाग के अधिकारियों व कर्मियों के साथ ही होमगार्ड स्वयंसेवकों को भी पुष्टाहार भत्ता प्रदान किए जाने समेत उनके कल्याण से जुड़े कुछ अन्य प्रस्ताव तैयार किए गए गए हैं। इसके अलावा होमगार्ड जवानों व अवैतनिक अधिकारियों के वर्ष 2020 से पूर्व के अनुग्रह राशि के भुगतान के लंबित प्रकरणों को निपटाने के लिए कल्याण कोष में एकमुश्त 10 करोड़ रुपये प्रदान किए जाने का प्रस्ताव भी है।

वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि एकमुश्त 10 करोड़ रुपये मिलने पर पूर्व के लंबित सभी मामलों का एकसाथ निस्तारण हो जाएगा। होमगार्ड विभाग में पारदर्शिता बढ़ाने व जवानों की सुविधा के लिए एप भी तैयार कराया गया है।

Edited By: Umesh Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट