लखनऊ, जेएनएन। उत्‍तर प्रदेश के कानपुर, मेरठ, गोरखपुर गाज‍ियाबाद, मथुरा में सुबह से ही बार‍िश शुरु हो गई है। ज‍िससे भीषण गर्मी से लोगों को न‍िजात म‍िली है। तापमान में भी करीब सात ड‍िग्री की ग‍िरावट दर्ज की गई है।

सोमवार तक जहां कई शहर का तापमान 37 ड‍िग्री से 40 ड‍िग्री के बीच था वहीं आज तापमान 26 से 27 ड‍िग्री पहुंच गया है। सुबह से शुरु झमाझम बार‍िश ने मौसम का म‍िजाज खुशनुमा कर द‍िया है। कई ज‍िलों में काले बादल छाए हुए हैं। वहीं मुरादाबाद और गोरखपुर में बार‍िश के बाद कई क्षेत्रों में जल जमाव हो गया है। ज‍िससे लोगों को द‍िक्‍कत भी हो रही है।

बता दें क‍ि मौसम व‍िभाग ने बुधवार को ही 30 ज‍िलों में तेज आंधी के साथ बार‍िश का अलर्ट जारी क‍िया था। गोरखपुर बस्‍ती मंडल में बुधवार सुबह से ही बार‍िश हो रही है। वहीं वाराणसी के आसपास के इलाकों में कहीं हल्‍की तो कहीं तेज बार‍िश ने मौसम का म‍िजाज पूरी तरह से बदल द‍िया है।

प्रयागराज में भी बार‍िश शुरु हो गई है। रात से ही बादलों की उमड़ घुमड़ शुरू हो गई थी। इससे पहले बुधवार को अधिकतम तापमान में सात डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई थी। बार‍िश की बूंदों से लोगों के चेहरे ख‍िल गए हैं। उमस भरी गर्मी झेल रहे लोगों ने राहत की सांस ली है।

मेरठ सह‍ित आसपास के ज‍िलों में गुरुवार की सुबह मौसम बदलाव लेकर आया, सुबह करीब छह बजे से कई स्‍थानों पर झमाझम बारिश का दौर शुरू हो गया। अचानक मौसम सुहाना हो गया। जहां बुधवार की रात तक भीषण उमस का सामना करना पड़ रहा था वहां तापमान में भरी ग‍िरावट दर्ज की गई। मौसम विज्ञानी बारिश की संभावना जता रहे थे, बारिश के चलते तापमान में भी गिरावट देखने को मिली।

मुजफ्फरनगर में सुबह से ही रिमझिम बारिश हो रही है, जिसके चलते मौसम ठंडा हो गया है। बारिश से गर्मी और उमस झेल रहे लोगों को राहत मिली है। वहीं किसानों के चेहरे भी खिल उठे हैं। कृषि वैज्ञानिकों का कहना है कि बारिश गन्ना, हरा चारा समेत सभी फसलों के लिए लाभदायक है। बागवानी के लिए भी बारिश लाभप्रद बताई जा रही है। हालांकि बारिश से कई स्थानों पर कीचड़ से लोगों को परेशानी भी झेलनी पड़ी।

सहारनपुर में कई स्‍थानों पर गुरुवार की सवेरे से मूसलधार बारिश के चलते मौसम सुहाना हो गया है और लंबे समय से वर्षा की बाट जोह रहे किसानों के चेहरे खिल उठे है। आमजन को गर्मी से राहत मिली है। झमाझम बारिश का क्रम लगातार जारी रहने से बाजारों में सन्नाटा पसरा है और अधिंकाश लोग अपने घरों में कैद है।

बुलंदशहर में कई दिन से उमस भरी गर्मी के बीच गुरुवार की सुबह बारिश शुरू होने से लोगों को गर्मी से राहत मिली है। किसानों को धान रोपाई के लिए बारिश का बेसब्री से इंतजार था। जिले भर में बारिश हो रही है। वहीं शामली में बुधवार रात हवा चली, सुबह बूंदाबांदी शुरू हो गई है। इससे मौसम खुशगवार हो गया है। तापमान में भी गिरावट आई है। कई दिन से पड़ रही गर्मी से भी निजात मिली है।

बागपत में गुरुवार की सुबह से बादल छाए हुए हैं। ठंडी हवा चलने से गर्मी से लोगों को राहत मिली है। बुधवार की रात्रि से गुरुवार सुबह तक बादल छाए रहने से बारिश होने का इंतजार लोग कर रहे हैं। हालांकि ठंडी हवाएं चलने से अधिकतक तापमान में पांच डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई है। बुधवार को अधिकतम तापमान जहां 33 डिग्री सेल्सियस था, वहीं गुरुवार को 28 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। मौसम विशेषज्ञ वंदना नेगी ने बताया कि मानसून ने प्रदेश में दस्तक दे दी है। बागपत में भी आज बारिश होने की संभावना है। आगामी तीन से चार दिन तक लगातार बारिश होने की संभावना है। बारिश से धान की फसल को फायदा होगा।

बदायूं, फर्रुखाबाद और कन्नौज में रेड अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग में इन जिलों में अति भीषण बारिश के साथ जलभराव और जानमाल की क्षति की चेतावनी देते हुए रेड अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा 12 जिलों में भारी वर्षा के लिए आरेंज अलर्ट और 15 जिलों में गरज चमक और तेज हवाओं के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है।

इन जिलों में अलर्ट जारी आरेंज अलर्ट: पश्चिमी उत्तर प्रदेश के ललितपुर, झांसी, महोबा, हमीरपुर, जालौन, कानपुर नगर, कानपुर देहात, औरैया, इटावा, मैनपुरी, एटा और कासगंज में तेज हवाओं और गरज चमक के साथ भारी बारिश के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

येलो अलर्ट: चित्रकूट, बांदा, रायबरेली, उन्नाव, लखनऊ, बाराबंकी, सीतापुर, हरदोई के साथ पश्चिमी उत्तर प्रदेश के आगरा, फिरोजाबाद, हाथरस, मथुरा, अलीगढ़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल में गरज चमक के साथ मूसलाधार बारिश के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है।

Edited By: Prabhapunj Mishra