लखनऊ। आज मुरादाबाद और बुलंदशहर में मामूली बातों को लेकर दो पक्ष आमने सामने आ गए। दोनों स्थआनों पर देखते ही देखते माहौल साम्प्रदायिक संघर्ष का रूप ले चुका था। इससे इतर एटा में २६ गायों के कटे सिर मिलने से सनसनी फैली और तनाव का माहौल बनाष पुलिस और प्रशासन ने इससे निपटने के एहतियाती उपाय किए हैं।

आज एटा के एक गांव में 26 गायों से सिर मिलने से जिले में काफी सनसनी फैल गई है। एटा के गंजडुंडवारा के गांव गणेशपुर निवासी इमामुल्लाह के खेत में मिले आज दिन में 26 गायों के कटे सिर मिलने से वहां का माहौल काफी तनावपूर्ण हो गया है। खेत में गायों के सिर मिलने की खबर से वहां पर हिंदूवादी एकत्र हो गये। इन लोगों ने इस घटना का काफी आक्रोश जताया है। पुलिस ने इस मामले में गांव सुजावलपुर निवासी रईस खान पुत्र दिलशाद को हिरासत में लिया है। मौके पर अभी भी भारी भीड़ एकत्र है। माहौल काफी तनावपूर्ण है।

बुलंदशहर के दोषपुर गांव में सांप्रदायिक बवाल

बुलंदशहर के खुर्जा देहात क्षेत्र के गांव दोषपुर में मामूली बात को लेकर दो संप्रदाय के लोग आमने-सामने आ गए। दोनों पक्ष के लोगों में विवाद बढ़ने पर जमकर पथराव और लाठी-डंडे चले। दोनों पक्षों से कई लोगों के चोटिल होने की सूचना है। इसके चलते गांव में अफरातफरी मच गई। साथ ही तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई। सूचना मिलने पर खुर्जा कोतवाली, जंक्शन, अरिनया, और थाना देहात पुलिस मौके पर पहुंचकर जांच में जुटी है।

धार्मिक स्थल को लेकर दो पक्ष सामने

मुरादाबाद के असमौली थाना क्षेत्र में धार्मिक स्थल निर्माण को लेकर दो पक्षों में पथराव हुआ। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने पहुंचकर हालात पर काबू पाया। गांव खासपुर में एक पक्ष द्वारा धार्मिक स्थल का निर्माण कराया जा रहा था। जिसकी शिकायत दूसरे समुदाय के लोगों ने थाना पुलिस से की थी। मामले में एसओ केके तिवारी ने दोनों पक्षों को बुलाकर समझौता करा दिया था। एक पक्ष का आरोप है कि दूसरा पक्ष समझौते के बाद भी धार्मिक स्थल का निर्माण करा रहा था। इसी बात को लेकर रविवार देर रात दोनों पक्षों में पथराव हुआ। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को संभाला। पुलिस का कहना था कि गांव में धार्मिक स्थल निर्माण को लेकर दो पक्षों में कुछ विवाद हो गया था। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। सम्भल एएसपी कमलेश दीक्षित भी मौके पर पहुंचे और दोनों पक्षों से वार्ता के बाद निर्माण कार्य रुकवा दिया।

Posted By: Dharmendra Pandey