लखनऊ, जेएनएन। सर्दियां शुरू होते ही लोग चाय-कॉफी और तले-भुने खाद्य पदार्थों का सेवन बढ़ा देते हैं। दिनभर में कई बार चाय और साथ में गर्मागर्म पकौड़े, समोसे आदि का शौक आपके दिल पर भारी पड़ सकता है। कैफीन युक्त पेय पदार्थ और तली-भुनी चीजों का अत्यधिक सेवन डायबिटीज, शुगर, बीपी सहित हृदय रोगों को निमंत्रण देते हैं। ऐसे में, ठंड शुरू होने के साथ ही संतुलित खानपान और नियमित व्यायाम के साथ अपने दिल को फिट रखा जा सकता है। 

सवाल : मेरी उम्र 72 साल है, ऑपरेशन और एंजियोग्राफी कराया है, स्टेंट लगा है, सर्दियों में क्या सावधानी बरतूं। - रामाधार सिंह, उरई

जवाब : खाने-पीने में मीठा, चिकनाई वाली चीजें ज्यादा न खाएं। अपने भोजन में मौसमी फल और सब्जियों की मात्रा ज्यादा रखें। इस उम्र में थोड़े-थोड़े अंतराल पर थोड़ा-थोड़ा खाएं-पीयें, खाने पर ऐसा कोई परहेज नहीं है।

सवाल : मेरा बीपी नार्मल है, शुगर और पसीना आने की समस्या है, दवाएं चल रही हैं, क्या इन्हें जारी रखूं।- साधना चौरसिया, अलीगंज

जवाब : यदि पैदल चलने में कोई दिक्कत नहीं है तो परेशान न हों। यदि परेशानी न हो तो टहलने जाएं, बीपी नार्मल हो तब भी उसकी दवाएं जारी रखें।

सवाल : मेरी उम्र 69 साल है, हार्ट का मरीज हूं, दवाएं खा रहा हूं, डॉक्टर ने ऑपरेशन करने को कहा है पर पैसों के अभाव में नहीं करा पा रहा हूं। आयुष्मान योजना में नाम नहीं है। - बिंद्रा शुक्ला, हजरतगंज

जवाब : दवाओं से आराम है तो दवाएं जारी रखें। यदि आयुष्मान योजना में नाम न हो, तो आप विधायक निधि से इलाज करा सकते हैं। लोहिया में आकर आप अपना इस्टीमेट बनाकर ईएसआइ के जरिये भी इलाज करा सकते हैं।

सवाल : मेरी उम्र 85 वर्ष है, हार्ट का पेशेंट हूं, 2005 में ऑपरेशन कराया था, 25 साल से डायबिटीज है, रात में बार-बार पेशाब आने की समस्या है, क्या करूं। - विश्वनाथ, अलीगंज

जवाब : पेशाब की समस्या के लिए आपको एक बार प्रोस्टेट जांच करानी होगी। अगर फिर भी परेशानी हो तो एक बार हार्ट का अल्ट्रासाउंड जोकि ईको होता है, वह कराएं। हर सोमवार को लोहिया अस्पताल में 29 नंबर कमरे में ओपीडी होती है, आप वहां दिखा सकते हैं।

सवाल : मेरी उम्र 45 वर्ष है, सीने में हल्का दर्द बना रहता है, पैदल चलने में कोई परेशानी नहीं होती।- दिलीप चौरसिया, सुलतानपुर

जवाब : लगातार पैदल चलने पर, सीढिय़ां चढऩे पर दर्द नहीं होता तो कोई परेशानी नहीं है। यह दर्द मांसपेशियों का हो सकता है। नियमित योग, व्यायाम और स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करेंगे तो आराम मिलेगा। सुबह-शाम कसरत के रूप में आधा घंटा वॉक करें।

सवाल : मेरी उम्र 43 वर्ष है, बेटी के जन्म के बाद से हार्ट की समस्या है। डॉक्टर ने हार्ट में पंपिंग की समस्या बताई है, क्या करूं। - शिवांगी, लखीमपुर

जवाब : पंपिंग की समस्या के लिए डॉक्टर की सलाह पर दवाएं खाएं, एक बार फिर से पंपिंग चेक करा लें, पुरानी पंपिंग कितनी निकली थी, यह भी चेक कराएं।

सवाल : मेरी उम्र 82 वर्ष है, 2014 में हार्ट अटैक हुआ था। पल्स रेट 50 के आसपास रहती है, दांत निकलवाना है, कोई चिंता की बात तो नहीं है।- हरीशचंद्र गुप्ता, अलीगंज

जवाब : आपको हार्ट अटैक आए कई साल हो गए हैं इसलिए दांत निकलवाने में कोई परेशानी नहीं होगी। फिर भी एक बार डॉक्टर को दिखाकर उनसे सलाह ले लें।

सवाल : मेरी उम्र 38 वर्ष है, पेट में दर्द, बदहजमी की शिकायत रहती है। कभी-कभी बीड़ी-सिगरेट पी लेता हूं।- रामबहादुर भारती, रायबरेली

जवाब : आप अपनी जीवनशैली बदलें, तंबाकू का सेवन हानिकारक होता है इसलिए तंबाकू सेवन बंद करें। केला, सेब, अमरूद, फाइबर युक्त डाइट लें, नियमित व्यायाम करें।

सवाल : स्कूल में टीचर हूं, उम्र 52 साल है, स्कूल आते-जाते पैदल चलता हूं। हार्ट में दिक्कत है, कभी-कभी दर्द होता है, बीपी की दवा लेता हूं, क्या करूं।- राजेंद्र मिश्रा, बहराइच

जवाब : काम के सिलसिले स्कूल तक पैदल आना-जाना तो ठीक है, पर आधा घंटा समय निकालकर सुबह या शाम को जरूर चलें। बीपी की दवा सुबह खाएं, यदि डॉक्टर ने शाम या रात को खाने को बताई है एक बार सलाह लेकर सुबह खाना शुरू करें इससे शुगर कंट्रोल रहता है।

सवाल : मैं 52 साल का हूं, किसी भी खुशी या गम के मौके पर रोना आता है, शोर होने पर घबराहट होती है, क्या करूं।- रामचंद्र, बाराबंकी

जवाब : इमोशनल लेवलिटी के चलते ऐसा होता है। इसके लिए आप किसी मनोरोग चिकित्सक से इलाज कराएं, दवाएं लेने पर यह समस्या ठीक हो जाएगी।

सवाल : मेरी उम्र 63 साल है, सीने में दर्द होता है, कभी-कभी सूजन भी आ जाती है, दवाएं चल रही हैं, कोई गंभीर समस्या तो नहीं है।- रामकिशोर वर्मा, फैजाबाद

जवाब : कभी-कभी दवाओं के साइड इफेक्ट के कारण भी दर्द होता है। एक बार डॉक्टर को दिखाकर सलाह लें।

सवाल : मैं 26 साल का हूं, मेरे सीने में दर्द होता है, बैठने या लेटने पर आराम मिलता है, पिता के साथ खेत में काम करता हूं तब भी परेशानी होती है।- पंकज तिवारी, अंबेडकरनगर

जवाब : इस उम्र में सीने का दर्द संभवत: मांसपेशियों के कारण भी हो सकता है। एक बार हॉस्पिटल आकर चेक करा लें।

सवाल : मेरी उम्र 35 वर्ष है, हार्ट की दिक्कत है, एंजियोग्राफी कराई थी, तार डाला गया है, स्टेंट लगा है, दवा खा रहा हूं। सर्दी आ रही है, ठंडे पानी से नहा सकता हूं या नहीं।- सतीश मौर्या, बाराबंकी

जवाब : सामान्य तौर पर ठंडे पानी से नहा सकते हैं, जो दवाएं आप खा रहे हैं उनसे गिल्टी या सूजन का दर्द हो सकता है। डॉक्टर से मिलकर दवा बदलवा लें, तीन हफ्ते तक इंतजार करके आराम मिलने पर फिर से दवा बदलवा लें।

सवाल : मैं 55 वर्ष का हूं, नौ महीने पहले एंजियोप्लास्टी हुई थी, सर्दियों में क्या सावधानी बरतनी होगी।- नागेंद्र, डलमऊ

जवाब : आमतौर पर अनुचित खानपान, अधिक मीठा खाने, व्यायाम न करने से भी दिक्कत होती है इसलिए इससे बचें। रेगुलर जो दवाएं खा रहे हैं, वह खाते रहें।

सवाल : जेब में मोबाइल रखने से क्या दिल को खतरा होता है।- आदेश द्विवेदी, कन्नौज

जवाब : हर किसी के लिए जेब में मोबाइल रखना खतरनाक हो सकता है क्योंकि इसमें रेडिएशन होता है, फिलहाल इस पर स्टडी चल रही है।

सवाल : छह साल पहले मेरी बहन की हार्ट बीट दो सौ से ऊपर हो गई थी, भर्ती कराया था, अब फिर से वही समस्या हो रही है, उसकी उम्र 28 साल है, क्या करूं।- अमित कुमार, महानगर

जवाब : फिलहाल डॉक्टर की दवाएं खाती रहें और दवाओं से कंट्रोल करें। हल्के-फुल्के दर्द में घबराने की बात नहीं है, यदि धड़कन बार-बार होती है तो दवाएं बढ़ानी पड़ेंगी, ज्यादा दिक्कत होने पर एक छोटा से ऑपरेशन से ठीक हो जाएंगी।

सवाल : मेरी उम्र 70 साल है, 2010 में एंजियोप्लास्टी हुई थी, दवाएं चल रही हैं, क्या मैं एयर ट्रेवेलिंग कर सकता हूं।- वाईके गोयल, कल्याणपुर

जवाब : नियमित दवाएं ले रहे हैं तो कोई दिक्कत नहीं है, आप हवाई यात्रा कर सकते हैं।

सवाल : मेरी उम्र 73 साल है, आठ साल पहले हार्ट अटैक हुआ था, सुबह टहलने पर दिक्कत होती है, हर एक घंटे पर पेशाब होता है, एंजियोग्राफी नार्मल है।- बाबूलाल, बहराइच

जवाब : पैदल घूमना बंद न करें, धीरे-धीरे चलें, दवाएं लेते रहें, पेशाब के लिए दवाएं बदलनी पड़ सकती हैं, डॉक्टर की सलाह लेकर दवाएं बदलें।

सवाल : मैं 70 वर्ष का हूं, मेरा टीएमटी टेस्ट हुआ है, ईको भी नार्मल है, मुझे चलने पर दिक्कत होती है, इलाज बताएं।- विजय श्रीवास्तव, अलीगंज

जवाब : टीएमटी नार्मल है तो दिक्कत नहीं है, पर चलने में भारीपन आता है सीटी स्कैन कराएं, सीटी एंजियोग्राफी से शक दूर हो जाएगा, अपने डॉक्टर से सलाह लेकर चेक कराएं।

सवाल : मैं 75 साल का हूं, शुगर पेशेंट हूं, कुछ दिनों से वॉक करने पर सांस फूलती है, क्या करूं।- आलोक रंजन, राजाजीपुरम

जवाब : ईको टेस्ट कराइए, हार्ट की पंपिंग चेक कराने के लिए हार्ट का ईको टेस्ट कराने के बाद ही बताया जा सकता है कि आगे क्या करना होगा।

सवाल : मेरी उम्र 49 वर्ष है, मेरे सिर में कभी-कभी पूरे शरीर में झनझनाहट रहती है, बीपी, शुगर चेक कराया है।- सीताराम, हरदोई

जवाब : पूरे शरीर में झनझनाहट हार्ट के कारण नहीं है, आप एक बार न्यूरो के डॉक्टर को दिखाएं।

सवाल : पति की उम्र 48 वर्ष है, जांच में एससीएम डायग्नोस हुआ है, लगातार इलाज चल रहा है, दवाएं खा रहे हैं, थायरॉयड भी है, एक जांच सहारनपुर में कराई थी जो अलग निकली, क्या करूं।- कीर्ति, अलीगंज

जवाब : दो अलग-अलग राय निकली हैं, ऐसे में थर्ड ओपिनियन लेना भी जरूरी होता है। एससीएम है, यदि कोई रुकावट नहीं है तो दवा दें, पर किसी तीसरे डॉक्टर से भी राय ले लें।

सवाल : मुझे बीपी की समस्या है, मेरी उम्र 42 वर्ष है, जाड़े में क्या सावधानी बरतूं।

जवाब : जाड़े में तीन-चार लेयर में कपड़े पहनकर टहलने जाएं, यदि कोई साइड इफेक्ट न हो तो बीपी की जो दवा ले रहे हैं उसे खाते रहें, ठंड से बचें।

हृदय रोग के लक्षण

  • आमतौर पर लोग दिल के दर्द को गंभीरता से नहीं लेते जो खतरनाक हो सकता है। इसलिए कुछ लक्षणों पर ध्यान देना जरूरी है
  • सीने में दर्द या भारीपन महसूस होना, पसीना आना। 
  • सामान्य तौर से चलने पर सीने में उठने वाला दर्द यदि रुकने या बैठने पर भी आराम न मिलना, ये हार्ट अटैक के लक्षण भी हो सकते हैं। 
  • दिल में दर्द के साथ शरीर के बाएं हिस्से में दर्द उठना जो बाएं कंधे, बाएं जबड़े की तरफ जाए, हाथ के रोएं खड़े होना आदि हार्ट अटैक के लक्षण हैं। 
  • सर्दियों में हार्ट अटैक की संभावना ज्यादा बढ़ जाती है। नसों में सिकुडऩ होने से रक्त संचार ठीक से नहीं हो पाता जो खतरनाक हो सकता है।

सर्दियों में ऐसे रखें दिल का ख्याल

  • ठंड में चाय या कॉफी के अधिक सेवन से बचें, क्योंकि ज्यादा चाय-कॉफी पीने से शरीर में शुगर का लेवल बढ़ जाता है। 
  • तले-भुने खाद्य पदार्थ और मिठाइयां हृदय रोग व डायबिटीज को निमंत्रण देते हैं इसलिए ऐसी चीजों के शौकीन खुद पर नियंत्रण रखें। 
  • सर्दियों में टहलने, व्यायाम करने के समय में बदलाव करें, यदि गर्मी के दिनों में सुबह पांच मॉर्निंग वॉक पर जाने की आदत हो तो सर्दी में एक घंटा देर से जाएं, बुजुर्ग सूर्य निकलने के बाद टहलने निकलें। 
  • ठंड शुरू होने के साथ गुनगुने पानी से नहाएं, पीने में भी गुनगुना पानी प्रयोग करें
  • दवाएं नियमित लेते रहें, अपने डॉक्टर से मिलकर दवाइयों की डोज को नियंत्रित कराएं। 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस