लखनऊ, जेएनएन। हाथरस में 19 वर्षीय दलित युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद उसकी पिटाई करने से मौत के मामले में हाथरस जिला प्रशासन ने चार आरोपितों के खिलाफ केस में एक और धारा बढ़ा दी है। इसके साथ ही पीड़ित परिवार को दस लाख रुपया की सहायता दी गई है।

हाथरस के जिलाधिकारी के साथ ही एसपी विक्रांत वीर ने बताया कि युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म तथा अमानवीय कृत्य करने से चारों आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है। इनके खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म के साथ ही एससी/एसटी एक्ट के तहत केस भी दर्ज किया गया है। जिला प्रशासन की तरफ से पीड़ित परिवार को दस लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी गई है। डीएम प्रवीन कुमार लक्षकार के साथ एसपी विक्रांत वीर सिंह ने कहा कि पीड़िता की जीभ कटी होने की खबरें सच नहीं हैं। डीएम प्रवीण कुमार लक्षकार ने कहा बताया कि पीड़िता की जीभ काटी नहीं गई हैं, बल्कि गला दबाते समय उसकी जीभ दांतों से कटी हैंं। गले में भी चोट के निशान हैं।

मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह को पता ही नहीं घटना का जिला

योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि घटना बहुत दुखद है। हमारी सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। जांच तुरंत शुरू हुई और चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

अब आगे इनके खिलाफ और कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें: Hathras Case : हाथरस की सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता की दिल्ली में मौत, जीभ काटने के साथ दरिदों ने की भयंकर पिटाई

कानून अपना रास्ता अपनाएगा। मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह इस दौरान घटना वाले जिले को हाथरस के स्थान पर हरदोई बोल गए।

यह भी पढ़ें: Hathras Case :हाथरस की बेटी के मौत से जंग हारने पर मायावती व प्रियंका गांधी दुखी, परिवार की मदद की मांग 

घटनाक्रम

14 सितंबर : चंदपा कोतवाली क्षेत्र के गांव बूलगढ़ी की 19 वर्षीय युवती के साथ जानलेवा व सामूहिक दुष्कर्म की यह घटना हुई थी। उस दिन ये लड़की मां के साथ खेत से चारा लाने गई थी। मां की तहरीर पर पहले पुलिस ने गांव के ही संदीप पर जानलेवा हमला और एससी-एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज कराया था। लड़की की गर्दन में चोट थी। उसे सांस लेने में परेशानी थी। इस कारण जेएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया। लड़की ठीक से बात भी नहीं कर पा रही थी। 

19 सितंबर: पहले आरोपित संदीप को जेल भेज दिया। 

22 सितंबर : को पीड़िता के बयान के आधार पर पुलिस ने सामुहिक दुष्कर्म की धाराएं बढ़ाते हुए तीन और युवकों को नामजद किया। 

23 सितंबर : दूसरा आरोपित जेल भेज दिया। 

25 सितंबर : तीसरा आरोपित जेल भेज दिया।

26 सितंबर : चौथा आरोपित जेल भेज दिया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस