जागरण संवाददाता, लखनऊ : फीनिक्स मॉल के गेट नंबर दो पर सोमवार शाम करीब पांच बजे चौकी इंचार्ज के सामने सिक्योरिटी गार्ड ज्ञान सिंह (40) को गोली मार दी गई। वारदात को अंजाम देकर आरोपित युवक कानपुर रोड की ओर भाग निकला। बाइक सवार युवक से गेट के बाहर गाड़ी खड़ी करने को लेकर गार्ड से विवाद हुआ था। मौके पर एएसपी पूर्वी, सीओ भारी पुलिस बल के साथ पहुंचे। ट्रामा में भर्ती गार्ड की हालात नाजुक बताई जा रही है।

हरदोई निवासी ज्ञान सिंह फीनिक्स मॉल में सिक्योरिटी गार्ड है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक सोमवार शाम करीब पांच बजे यह गार्ड गेट नंबर दो पर ड्यूटी कर रहा था। इस बीच सफेद रंग की बाइक से युवक पहुंचा। गेट के बाहर बाइक खड़ी करने का गार्ड ने विरोध किया तो वह गाली-गलौज करने लगा। इतने में शोर सुनकर कुछ अन्य गार्ड और बाउंसर आ गए। उनसे भी युवक की कहासुनी हो गई। इसके बाद धमकी देते हुए युवक वहां से चला गया। करीब 20-25 मिनट बाद वह युवक पैदल ही पहुंचा और गार्ड से गाली-गलौज करने लगा। गार्ड ने साथियों को आवाज दी तो युवक ने उसे गोली मार दी। पीठ में गोली लगने से वह मौके पर ही गिर गया। इसके बाद युवक वहां से भाग निकला। घटना के समय फीनिक्स मॉल चौकी इंचार्ज प्रभा शंकर मात्र 10 मीटर की दूरी पर खड़े थे। सुरक्षाकर्मी घायल गार्ड को क्षेत्र स्थित निजी अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां हालत नाजुक देख ट्रामा रेफर कर दिया गया। जहां उसकी हालत चिंताजनक बताई जा रही है। एएसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि गेट के बाहर गाड़ी खड़ी करने को लेकर गार्ड का बाइक सवार युवक से विवाद हुआ था। इसके बाद वह चला गया और कुछ देर बाद लौटकर आए युवक ने गार्ड को गोली मार दी। सीसीटीवी कैमरे में कैद फुटेज के आधार पर आरोपित की तलाश में दबिश दी जा रही है।

----------------

50 कदम की दूरी पर बाइक खड़ी कर आया था आरोपित

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक आरोपित युवक मॉल से 50 कदम की दूरी पर स्थित एक पराठे वाले की दुकान पर बाइक खड़ी करके आया था। वारदात को अंजाम देकर युवक पैदल भागा और उसने दुकान पर खड़ी बाइक स्टार्ट की और हेलमेट लगाकर कानपुर रोड की ओर भाग निकला। पुलिस चाहती तो युवक को पकड़ सकती थी।

----------------

फायर की आवाज सुनकर भाग निकले लोग

सरेशाम मॉल के बाहर गार्ड को गोली मारने की घटना से लोगों में खलबली मच गई। मॉल के अंदर मौजूद लोगों में भगदड़ मच गई। मॉल में खरीदारी करने पहुंचे लोग इतनी दहशत में आ गए कि खरीदी गई सामग्री भी छोड़कर भाग खड़े हुए।

Posted By: Jagran