लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को रक्षाबंधन पर तोहफा दिया है। इनको जुलाई का मानदेय खाते में भेजा गया है। इसके साथ ही सरकार का प्रयास है कि यानी यानी गुरुवार तक उनका बकाया मानदेय भी बैंक खाते में भेंजे।

निदेशक बाल विकास एवं पुष्टाहार कपिल सिंह बताया कि प्रदेश के आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के जुलाई माह का मानदेय उनके बैंक खातों में भेज दिया गया है। सरकार की कोशिश है कि जून का बकाया मानदेय भी गुरुवार तक उनके बैंक खातों में भेज दिया जाए। उन्होंने कहा कि शासन ने इन सभी को रक्षाबंधन पर्व का तोहफा देने का फैसला किया था। जिसके क्रम में मानदेय इनके खाते में भेजा गया है।

बाल विकास एवं पुष्टाहार के इस प्रयास को आंगनवाड़ी कार्यकर्ता काफी सराह रहे हैं। उनका कहना है कि त्यौहार पर हमारे बैंक के खाते में बकाया धन आना काफी बेहतर है। अब हमारा त्यौहार काफी अच्छी तरह से मनेगा।निदेशक कपिल सिंह ने बताया कि माह जुलाई का मानदेय पीएफएमएस के माध्यम से आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के खातों में भेज दिया गया है। इसके अलावा माह जून का मानदेय भी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को आज तक सभी को भिजवाने का प्रयास किया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश में बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग से जुड़े आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को बाल विकास एवं पुष्टाहार के कार्य के साथ कोरोना वैक्सीनेशन अभियान में लगाया गया है। कोरोना वायरस संक्रमण काल में इनसे गांव तथा कस्बों का इनपुट भी लिया गया था।

इस काम के साथ ही इनमें से भी बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं को मुफ्त राशन वितरण प्रणाली के काम में भी लगाया गया था। इनको सार्वजनिक वितरण प्रणाली के पर्यवेक्षण का भी काम दिया जाता है। अब तो बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के आंगनवाड़़ी कार्यकर्ता सरकार के ग्राउंड लेवल के काम को अंजाम देने में दक्ष भी हो रहे हैं।

Edited By: Dharmendra Pandey