अयोध्या, संवाद सूत्र। शहर के गुलाबबाड़ी उद्यान परिसर में लग्जरी वाहन से कुचल कर माली की मौत हो गई। पुलिस की छानबीन में यह सामने आया है कि हादसा करने वाला वाहन सपा के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद को लेकर गुलाबबाड़ी आया था। वाहन पर रजिस्ट्रेशन नंबर भी नहीं था। घटनास्थल पर अवधेश प्रसाद भी मौजूद थे, लेकिन वह परिसर में एक मीडिया संस्थान की ओर आयोजित परिचर्चा कार्यक्रम में उपस्थित थे। गुलाबबाड़ी पुरातत्व विभाग की ओर से संरक्षित स्मारक है, जहां किसी भी प्रकार के कार्यक्रम एवं वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध है। जिलाधिकारी नितीश कुमार एवं सिटी मजिस्ट्रेट सत्येंद्र सिंह ने भी आयोजन के बारे में जानकारी होने से अनभिज्ञता जाहिर की है। हादसे के बाद पूर्व मंत्री मौके से चले गए।

गुलाबबाड़ी के मुख्य गेट पर तैनात माली घिर्राऊ प्रसाद ने वाहन रोकने का प्रयास किया था, लेकिन चालक जबर्दस्ती वाहन लेकर परिसर में पहुंच गया।। गुलाबबाड़ी में तैनात उद्यान कर्मियों की मानें तो परिसर में किसी भी प्रकार के वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित है, लेकिन चालक जबर्दस्ती वाहन लेकर उद्यान परिसर में प्रवेश कर गया। दुर्घटना से आक्रोशित लोगों ने वाहन को पकड़ने के लिए मुख्य गेट को बंद कर दिया। हादसे के बाद चालक वाहन छोड़ कर भाग निकला। म़ृतक की पहचान खुर्दाबाद नौघड़ा निवासी 56 वर्षीय शंकरलाल के रूप में हुई, जो उद्यान विभाग में माली के पद पर कार्यरत थे। वह कई वर्षों से गुलाबबाड़ी परिसर में ही रहते थे। बीमारी के चलते शंकरलाल एक से 15 दिसंबर तक अवकाश पर थे। 

माली घिर्राउ प्रसाद ने बताया कि गुलाबबाड़ी में आयोजित एक परिचर्चा में शामिल होने के लिए कई नेता आए थे। पूर्व मंत्री कार्यक्रम में थे, इसी बीच चालक लग्जरी वाहन को मोड़ने लगा। वाहन पीछे करते समय भूमि पर विश्राम कर रहे शंकरलाल उसकी चपेट में आ गए। गंभीरावस्था में उन्हें जिला अस्पताल लाया गया, जहां शंकरलाल को मृत घोषित कर दिया गया। एसपी सिटी विजयपाल सिंह, एएसपी पलाश बंसल, कोतवाल देवेंद्र सिंह ने मौके पर पहुंच पड़ताल की। पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद का कहना है कि वाहन उन्हीं का था, लेकिन हादसा उससे नहीं हुआ। एक स्थान पर खड़ा था। वह कार्यक्रम में थे, तभी एक बुजुर्ग व्यक्ति की मौत की सूचना उन्हें प्राप्त हुई। गेट कीपर ने दरवाजा खोला तभी उनका वाहन गुलाबबाड़ी में प्रवेश किया।

सत्ताधारी दल उन्हें बदनाम करने की साजिश कर रहा है। वहीं, एएसपी पलाश बंसल ने बताया कि वाहन पर कोई रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं है। वाहन पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद को लेकर कार्यक्रम में आया था, लेकिन हादसे के वक्त वह वाहन पर सवार नहीं थे। अभी तक कोई तहरीर नहीं मिली है। राजकीय उद्यान अधीक्षक बीपी सिंह ने बताया कि मृतक शंकरलाल के स्वजनों को सूचित करने का निर्देश दिया गया है। मृतक के स्वजनों की ओर से मुकदमा दर्ज कराया जाएगा, लेकिन शंकरलाल उद्यान विभाग के नियमित कर्मचारी थे, इसलिए हादसे में गुलाबबाड़ी में तैनात माली रमेश पाठक को कोतवाली नगर में मुकदमा दर्ज कराने का निर्देश दिया गया है। पुरातत्व विभाग के अवर संरक्षक सहायक पवन कुमार का कहना है कि गुलाबबाड़ी पुरातत्व विभाग की ओर से संरक्षित स्मारक है। इसके परिसर में वाहनों का प्रवेश व किसी भी प्रकार का आयोजन प्रतिबंधित है। आयोजन रोकने के लिए भी कहा गया था। विभागीय स्तर से भी इस मामले में कार्रवाई के लिए उच्चाधिकारियों से मार्गदर्शन मांगा गया है।

Edited By: Vikas Mishra