रायबरेली, जेएनएन। मिल एरिया के देवानंदपुर में अनाथ बच्चों के लिए संचालित गांधी सेवा निकेतन में शुक्रवार को फिर हंगामा हो गया। इस बार बच्चों ने संस्थान के भीतर तोड़फोड़ की। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने किसी तरह उन्हें शांत कराया। इससेे पहले शुक्रवार सुबह बाल संरक्षण आयोग की सदस्य सुचिता तिवारी व रायबरेली सीडीओ राकेश शुक्ल गांधी बाल सेवानिकेतन में हुए व‍िवाद की जांच करने पहुंचे थे। लखनऊ की टीम ने अलग-अलग तरीके से बच्चों से बयान दर्ज किए। सुचिता तिवारी ने करीब आधे घंटे टीम के साथ गहनता से जांंच पड़ताल की। 

शिक्षिका के साथ मारपीट के बाद शिक्षक द्वारा बच्चों को पीटने के वीडियो वायरल होने के बाद पहले प्रशासनिक अमला इसकी जांच कर रहा था। मगर, जब बाल संरक्षण आयोग की टीम जांच कर वहां से निकली तो एकाएक बच्चे उग्र हो गए। अंदेशा है कि टीम द्वारा जो सवाल-जवाब बच्चों से किए गए, उनसे वे नाराज हो गए। फिर उन्हाेंने अनाथालय में जमकर तोड़फोड़ की।

सीडीओ राकेश कुमार और एएसपी नित्यानंद राय के काफी समझाने बुझाने पर बच्चे शांत हुए। वहां हालात अभी भी तनावपूर्ण बने हुए हैं। जांच के दौरान कोई बवाल न हो, इसके लिए वहां पहले से भारी संख्या में फोर्स तैनात कर दी गई थी। हंगामा तो जांच टीम के जाने के बाद हुआ। बता दें कि संस्था के प्रबंधक अरुण मिश्र के खिलाफ कार्रवाई के बाबत जिला प्रशासन ने गुरुवार को ही शासन को पत्र भेज दिया गया था। 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस