अमेठी, जेएनएन। जल निगम विभाग में हुई जूनियर इंजीनियरों की भर्ती निरस्त होने से विभाग के पांच अधिकारियों की नौकरी चली गई है। जिससे विभाग में चौदह के सापेक्ष अब चार इंजीनियर ही बचे हैं।

सपा सरकार ने जल निगम विभाग ने जूनियर इंजीनियरों की कमी को पूरा करने के लिए भर्ती निकाली थी। प्रक्रिया के तहत पदों पर चयनित इंजीनियरों की तैनाती की गई थी। भर्ती को लेकर की जा रही जांच में 11 पन्नों की रिपोर्ट आने के बाद सरकार ने भर्ती को निरस्त कर दिया है। जिससे तीन साल नौकरी करने के बाद चयनित इंजीनियर सड़क पर आ गए हैं। जिले के जल निगम विभाग में तैनात जेई दीपक कुमार, सुमित कुमार पासी, आकाश कुमार तिवारी, धीरेंद्र सिंह व सुनील कुमार की नौकरी चली गई है। इससे विभाग में चौदह जेई के पद सृजित होने के बाद पांच के हटने पर अब चार रह गई है। जिससे विभाग का काम प्रभावित होना तय है। 
-नहीं मिला वेतन
जल निगम विभाग में तैनात एई, लिपिक, सुपरवाइजर, पंप चालक, हेल्पर, चौकीदार, खंडीय लेखाकार, प्रधान लिपिक, नैतिक लिपिक व सहायक अभियंताओं आदि को दिसंबर माह से वेतन नहीं मिल सका है। विभागीय कर्मचारियों ने बताया कि काम का लोड कम होने के कारण वेतन नहीं मिला है। जबकि उन्हे सेंटेज के माध्यम से वेतन का भुगतान किया जाता है।
जल निगम अमेठी के अधिशाषी अभियंता महेंद्र राम ने बताया कि शासन द्वारा भर्ती निरस्त करने के बाद विभाग में तैनात पांच जेई कम हो गए हैं। पहले से कम जेई थे। वर्क लोड बढ़ाने की कार्रवाई की जा रही है। बजट मिलते ही वेतन का भुगतान हो सकेगा।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस