गोंडा, संवाद सूत्र। तरबगंज के मनहना बाजार में किराना व्यवसायी के दो मंजिला आवास पर बने गोदाम में शार्ट सर्किट से आग लग गई। इससे वहां पर रखे एक सिलिंडर में विस्फोट हो गया। आग और धुएं में फंस कर एक 10 वर्षीय बालक की मौत हो गई।

क्षेत्र पंचायत सदस्य प्रांशु श्रीवास्तव और प्राण शंकर तिवारी ने बताया कि मनहना बाजार में देवी प्रसाद गुप्त की दुकान में रात्रि को करीब 10 बजे आग लग गई। प्रारंभिक तौर पर आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। व्यवसायी ने दुकान की दूसरी मंजिल पर बनाए गए गोदाम में किराना के लिए मंगाए गए सामान एकत्र कर रखे थे। यहीं पर खाना बनाने के लिए सिलिंडर रखा हुआ था। आग लगने के कारण देखते ही देखते आग ने पूरे गोदाम को अपनी चपेट में ले लिया। जब तक कोई कुछ समझ पाता तब तक वहां पर रखे सिलिंडर में भी आग लग गई। इससे उसमें विस्फोट हो गया। अफरा तफरी मच गई। किसी तरह से आग पर काबू पाया गया। दूसरी मंजिल पर आग में फंसे व्यवसायी के बेटे सुजीत को किसी तरीके से स्थानीय लोगों ने रस्सी के सहारे बाहर निकाला। पड़ोस घर में रहने वाले राम अवतार का दस वर्षीय बेटा चंदन भी आग की चपेट में फंस गया। जिससे उसकी गोदाम के अंदर ही जलकर मौत हो गई। बालक की मौत की जानकारी आग बुझने के बाद हुई है। एसओ संतोष कुमार सरोज ने बताया कि घटना की जानकारी है। कारणों की जांच की जा रही है।

समय से नही मिली मदद: स्थानीय ग्रामीणों की मानें तो आग लगने पर फायर ब्रिगेड को फोन करके मदद मांगी गई। लेकिन फायर ब्रिगेड की टीम समय से नहीं पहुंच पाई। इससे नुकसान का दायरा बढ़ गया। स्थानीय लोगों ने एक दूसरे की मदद से ही आग बुझाने का प्रयास किया। इसके बाद आग पर किसी तरीके से काबू पाया गया। दो घंटे बाद अग्निशमन दस्ता पहुंचा। वैसे मौके पहुंची डायल 112 और स्थानीय पुलिस की टीम आग को बुझाने में स्थानीय लोगों के साथ मदद में जुटी रही।

 

Edited By: Rafiya Naz