लखनऊ, जेएनएन। भाई-दूज पर्व पर राजधानी स्थित आलमबाग इलाके में युवक जयशंकर के घर में शुक्रवार सुबह भीषण आग लगी। घटना के दौरान घर के अंदर 14 साल की बच्ची और 27 वर्षीय मानसिक मंदिरत सो रहा था। पड़ोस की बच्ची ने धुआं निकलता देख। शोर मचाना शुरू कर दिया।

तभी पत्नी को स्टेशन छोड़कर पहुंचे जयशंकर ने पड़ोसियों का घर में लगी आग बुझाते देख हैरान रह गया। ताला खोल भागते हुए घर से दोनों बच्चों को बाहर निकाला। सूचना के 45 मिनट बाद 100 डायल फायर ब्रिगेड के साथ मौके पर पहुंची। इसके बाद आग पर काबू पाया जा सका। फिलहाल किसी के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है। 

 

ये है पूरा मामला 

मामला आलमबाग के पूरन नगर इलाके का है। यहां जयशंकर मिश्रा अपनी पत्नी, 14 साल की बेटी और 27 वर्षीय मानसिक मंदिरत बेटे के साथ तीन मंजिले मकान में रहते हैं। भूतल में ही एक जनरल मर्चेंट की दुकान खोले अपने परिवार का घर खर्च चलाते हैं। जयशंकर के बहनोई लालत प्रसाद तिवार मेट्रों में  कांटे्रक्ट बेस्ड कर्मी हैं। इन्होंने बताया कि शुक्रवार को भाई-दूज पर्व के दिन जयशंकर अपनी पत्नी को उसके मायके उन्नाव जाने के मानक नगर स्टेशन तक छोडऩे सुबह घर में ताला लगाकर निकले। उस दौरान घर के अंदर दोनों बच्चें 14 साल की बेटी और मानसिक मंदिरत बेटा सो रहा था। पत्नी को स्टेशन छोडऩे के बाद जयशंकर दूध लेकर घर पहुंचे तो आग लगी देख हैरान रह गए। पड़ासी उनके घर में पाइप लगार आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहे थे। जयशंकर ने फौरन घर का ताला खोला और बच्चों को बाहर निकाला जा सका। फिलहाल किसी के हताहत होने की कोई सूचना नहीं है। 

 

45 मिनट बाद पहुंची 100 डायल 

पड़ोस की बच्ची ने जयशंकर के घर के नीचे बनी दुकान से धुआं उठता देख, आस -पास के लोगों को सूचना दी। तभी मौके पर पहुंचे लोगों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की। देखते ही देखते आग की लपटों ने घर को भी चपेट में ले लिया। सूचना के 45 मिनट बाद 100 डायल फायर ब्रिगेड के साथ मौके पर पहुंची। इसके बाद आग पर काबू पाया जा सका। 

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस