लखनऊ, जागरण संवाददाता। कैरियर डेंटल कालेज के मालिक एवं सपा सरकार में मंत्री रहे इकबाल अली उनके भाई समेत तीन पर 22 लाख की ठगी का आरोप लगाते हुए सआदतगंज के व्यवसायी ने वजीरगंज कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। व्यवसायी ने प्लाट दिलाने के नाम पर ठगी का आरोप लगाया है। इंस्पेक्टर वजीरगंज धनंजय पांडेय के मुताबिक सआदतगंज टिकैतराय कालोनी निवासी अमित मेहरोत्रा व्यवसायी हैं। वह एक प्लाट खरीदना चाहते थें। वर्ष 2010 में प्लाट के संबंध में घैला निवासी उबैद अली उर्फ कल्लू से उनकी बातचीत हुई। अमित ने बताया कि उबैद ने घैरा में एक बीघे का प्लाट दिखाया और बताया कि इस प्लाटिंग में उनके अलावा कैरियर डेंटल के मालिक इकबाल अली और उनके भाई अजमत अली भी पार्टनर हैं। प्लाट का सौदा 32 लाख रुपये में तय हुआ। फरवरी 2010 में अधिवक्ता के सामने इकबाल अली, अजमत अली और उबैद को 22 लाख रुपये देकर प्लाट का एग्रीमेंट करा लिया। इसके बाद बाकी के 10 लाख रुपये का चेक दिया। उक्त लोगों से प्लाट की रजिस्ट्री करने को कहा तो टाल मटोल करने लगे। विरोध पर धमकाना शुरू कर दिया। बात बढ़ती देख चेक के रुपयों पर बैंक से रोक लगा दी। दबाव बनाने पर उक्त लोगों ने प्लाट और रुपये दोनों देने से मना कर दिया। रुपये मांगने पर धमकी दी। मामले की जानकारी अधिकारियों को दी। इसके बाद जांच हुई। जांच के बाद आरोपितों पर मुकदमा दर्ज किया गया।समझौते के बाद दी चेक वह भी बाउंस हो गईअमित ने बताया कि इकबाल समाजवादी पार्टी से जुड़े हैं सत्ता मेंं आने के बाद वह और धमकाने लगे। कई साल तक टाल मटोल करते रहें। इसके बाद समझौता हुआ। समझौते के दौरान हरदोई रोड तहसीनगंज स्थित पायनियर अर्बन कोआपरेटिव बैंक की चेक दीं। चेक बैंक में लगाई तो वह बाउंस हो गई। विरोध पर फिर जान से मारने की धमकी दी।

Edited By: Rafiya Naz