लखनऊ, जेएनएन। हजरतगंज कोतवाली में मंगलवार रात प्रियंका प्रियंका वाड्रा के निजी सचिव संदीप सिंह और यूपी कांग्रेस के अध्‍यक्ष अजय कुमार लल्‍लू के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई। तहरीर के मुता‍बिक कांग्रेस पार्टी की ओर से प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाने के लिए एक हजार बस उपलब्‍ध कराने की बात कही गई थी। शासन ने अनुमति देते हुए उनसे बसों का ब्‍यौरा मांगा था।

आरोप है कि आरोपितों की ओर से उपलब्‍ध कराई गई बसों की सूची में फर्जीवाड़ा किया गया है। इस मामले मेंं आरटीओ आरपी त्रिवेदी की तहरीर पर पुलिस ने धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज की है। दरअसल, मंगलवार को कांग्रेस के पदाधिकाि‍रियों की तरफ से एक हजार बसों की सूची उपलब्‍ध कराई गई थी। शासन ने एनआइसी से इन बसों की जांच कराई तो इनमें करीब 31 वाहनाेंं पर ऑटो व अन्‍य थ्री व्‍हीलर के नंबर अंकित थे।

यही नहीं 69 वाहनों पर एंबुलेंस, स्‍कूल बस, ट्रक, डीसीएम, निजी कार के थे। वहीं एक ही नंबर की गाड़ी को दो सूचियों में अंकित किया गया था। यही नहीं कुल 70 वाहनों का डाटा ही उपलब्‍ध नहीं मिला। मामले की गंभीरता को देखते हुए परिवहन विभाग ने जांच रिपोर्ट उच्‍चाधिकाि‍रियों को भेजी, जिसके बाद एफआइआर के निर्देश दिए गए। पुलिस आयुक्‍त सुजीत पांडेय के मुताबिक दो लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है। मामले की छानबीन की जाएगी।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस