लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस की सेकेंड स्ट्रेन के साथ ही बरसात के मौसम में होने वाले रोगों को लेकर भी तैयार रहने का निर्देश दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को टीम-09 के साथ समीक्षा बैठक में अधिकारियों अभी भी बेहद अलर्ट मोड में रहने को कहा है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने सरकारी आवास पर मंगलवार को कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित टीम-09 के साथ बैठक के बाद उनको संचारी रोग से निपटने की तैयारी भी करने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण की रफ्तार थम रही है, लेकिन ब्लैक फंगस के मामले भी सामने आते जा रहे हैं। उधर बरसात के मौसम में भी कई बीमारियां सक्रिय हो जाती हैं। ऐसे में हमको अभी से अपनी सारी तैयारी करनी होगी।

आने वाले कुछ माह बच्चों के स्वास्थ्य के दृष्टिगत संवेदनशील हैं। बरसात का मौसम शुरू हो रहा है। संचारी रोग, डेंगू, इंसेफेलाइटिस, चिकनगुनिया आदि की समस्या बढऩे की आशंका है। विशेषज्ञों ने कोविड की तीसरी लहर की आशंका भी जताई है। ऐसे में बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए सभी जरूरी प्रबंध किए जा रहे हैं। इसको देखते हुए अभिभावकों को भी विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इंसेफेलाइटिस रोकथाम के लिए दस्तक अभियान के साथ-साथ संचारी रोगों से बचाव के लिए विशेष जागरुकता अभियान संचालित किए जाएं।

पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराएं मेडिकल उपकरण

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बच्चों के लिए बेहद उपयोगी पल्स ऑक्सीमीटर की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए। इसके लिए हमारी एमएसएमई इकाइयां, चाइल्ड पल्स ऑक्सीमीटर के विनिर्माण की दिशा में अच्छा सहयोग कर सकती हैं। संबंधित विभाग एमएसएमई इकाइयों से संपर्क कर इस दिशा में प्रयास शुरू कर सकते हैं।

टीकाकरण की प्रक्रिया सुचारू

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेशवासियों को टीका-कवर प्रदान करने की प्रक्रिया सुचारू रूप से चल रही है। विगत 14 दिनों में 51 लाख लोगों में वैक्सीन कवर प्राप्त किया है। प्रदेश में बीते 24 घंटों में 4,33,857 लोगों ने वैक्सीन लगाई गई। अब तक दो करोड़ 35 लाख से अधिक वैक्सीन डोज दिए जा चुके हैं। अगस्त तक दस करोड़ लोगों को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य है। टीकाकरण अभियान को और तेज करने की आवश्यकता है। नए वैक्सीनेटर तैयार किए जाएं।

जिलों में तकनीशियनों की तैनाती सुनिश्चित कराएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और वेंटिलेटर संचालन के लिए सभी जिलों में तकनीशियनों की तैनाती सुनिश्चित कराई जाए। इस प्रक्रिया में आईटीआई से प्रशिक्षित योग्य युवाओं को आवश्यकतानुसार इन मशीनों के संचालन के संबंध में दक्षता दिलाई जाए।

गति पर रहें विकास कार्य

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में हर तरफ एक्सप्रेस-वे के निर्माण की प्रक्रिया तेजी से चल रही है। एक्सप्रेस-वे पर सड़क दुर्घटना की स्थिति में त्वरित चिकित्सकीय सहायता उपलब्ध कराने के लिए एक्सप्रेस-वे के किनारे कई ट्रॉमा सेंटर की आवश्यकता है। सबसे पहले लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर एक सर्वसुविधायुक्त ट्रॉमा सेंटर की स्थापना कराई जाए। इसके बाद, चरणबद्ध रूप से अन्य एक्सप्रेस-वे पर भी ऐसे ही प्रयास हों।

किसानों के हितों की जरा भी अनदेखी बर्दाश्त नहीं

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के हित संरक्षण को सुनिश्चित करते हुए गेहूं खरीद 15 जून के बाद एक सप्ताह के लिए और बढ़ाया जाए। क्रय केंद्रों को चरणबद्ध रूप से बंद किया जाए। जहां किसान आएं वहां खरीद जारी रखी जाए। जब तक किसान आएंगे, गेहूं खरीद जारी रहेगी। इन सभी व्यवस्थाओं की हर दिन मॉनीटरिंग की जाएं। 

Edited By: Dharmendra Pandey