लखनऊ, जेएनएन। टोल काउंटरों पर फास्टैग बनाने की स्पीड स्लो है। नकद टोल वसूली एक दिसंबर से प्रत्येक टोल प्लाजा की एक लेन पर होगी। इसके बावजूद जरूरतभर फास्टैग नहीं बन पा रहे हैं। लखनऊ में एनएचएआइ के सीतापुर रोड और कानपुर रोड केटोल प्लाजा पर यही हालात बने हुए हैं। लाइनें लग रही हैं, सर्वर डाउन हैं और यहां फास्टैग उपलब्ध ही नहीं हैं। इस बात को एनएचएआइ के आला अफसर भी मान रहे हैं।

लखनऊ सीतापुर राजमार्ग इटौंजा के मानपुर टोल प्लाजा पर मंगलवार को फास्टैग बनाए जा रहे थे, लेकिन सर्वर डाउन होने की समस्या आड़े आती रही। फास्टैग गाडिय़ों पर चिपकाने का कार्य नहीं हो पा रहा था। यहां पर फास्टैग आइसीआइसीआइ बैंक बनवा रहा है। फास्टैग काउंटर कर्मचारी पवन ने बताया कि सर्वर की समस्या है। एक दिन में 25 फास्टैग ही बन पा रहे हैं। सर्वर ठीक होने पर 50 से 60 तक बन जाते हैं। उन्होंने बताया कि फास्टैग गाडिय़ों पर चिपकाने की समस्या है, क्योंकि कोई कर्मचारी नहीं है। 

दूसरी ओर रायबरेली रोड पर निगोहा टोल प्लाजा पर पिछले दो दिन से फास्टैग नहीं हैं। अभी तक 100 गाडिय़ों को ही टैग लगाया गया है। आइसीआइसीआइ बैंक से ये काम किया जा रहा है। ट्रक पर टैग लगवाने आए सुमित को वापस जाना पड़ा। 

अभी कोई शुल्क नहीं

फास्टैग बनवाने के लिए अभी कोई शुल्क नहीं लिया जा रहा है। इसके लिए वाहन स्वामी को अपना एक फोटो और आइडी प्रूफ देना होता है। 

यहां भी मिलेंगे फास्टैग

एयरटेल पेमेंट बैंक, एचडीएफसी बैंक, आइसीआइसीआइ बैंक टोल पेमेंट्स, आइडीएफसी फस्र्ट बैंक, पेटीएम पेमेट्स बैंक, एसबीआइ , ई कोट्स, इंडसलैंड बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एक्सिस बैंक, पीएनबी, बैंक ऑफ बड़ौदा और यूनियन बैंक में फास्टैग मिलेंगे। इसके अलावा अमेजन और अन्य ऑनलाइन साइट पर भी ये उपलब्ध हैं। 

एनएचएआइ के प्रोजेक्ट डायरेक्टर नरसिंह नारायण गिरी ने बताया कि फास्टैग की अनुपलब्धता बनी हुई है। कुछ जगह पर दिक्कतें आ रही हैं। सर्वर डाउन होने की भी समस्या है। बहुत जल्द ही व्यवस्था पर काबू किया जाएगा।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस