लखनऊ, राज्य ब्यूरो। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन ने शासन की चि‍ंता भी बढ़ा दी है। प्रदेश में यह वैरिएंट अपने पैर न पसार पाए, इसके लिए अतिरिक्त सतर्कता बरती जाएगी। अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने इसके लिए डीएम व अन्य अधिकारियों को विस्तृत निर्देश दिए हैं। कहा है कि सार्वजनिक स्थानों पर शारीरिक दूरी, मास्क व कोरोना प्रोटोकाल के अन्य निर्देशों का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने डीएम लखनऊ व वाराणसी को पुलिस आयुक्त व मुख्य चिकित्सा अधिकारी के साथ एयरपोर्ट का निरीक्षण कर वहां सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनि‍ंग सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया है। कहा है कि जिन देशों में ओमिक्रोन वैरिएंट का संक्रमण है, वहां से आने वाले कोरोना संक्रमित पाए गए यात्रियों को अलग आइसोलेशन में रखा जाएगा। ऐसे यात्रियों के लिए निर्धारित प्रोटोकाल के अनुरूप उपचार व कांटेक्ट ट्रेसि‍ंग की भी व्यवस्था की जाएगी। प्रदेश के जिन जिलों में एयरपोर्ट हैं, वहां कोविड चिकित्सालय को अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की आइसोलेशन सुविधा के लिए चिन्हित किया जाएगा। इसके लिए डीएम, पुलिस आयुक्त व मुख्य चिकित्सा अधिकारी की संयुक्त निरीक्षण आख्या दो दिनों में गृह विभाग के कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराएंगे।

डीएम गौतमबुद्धनगर व गाजियाबाद को पूर्व की तरह दिल्ली सरकार से समन्वय स्थापित कर प्रदेश में आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए विशिष्ट आदेश जारी करने के निर्देश भी दिए गए हैं। जिलों में मुख्य चिकित्सा अधिकारी के स्तर पर उपलब्ध अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की सूची इंटीग्रेटेड कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर्स को उपलब्ध कराई जाएगी और सेंटर्स के स्तर से सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को भारत में आगमन के सातवेें दिन तक प्रतिदिन काल करके उनके स्वास्थ्य व कोरोना के लक्षणों की स्थिति की जानकारी हासिल की जाएगी। किसी अंतरराष्ट्रीय यात्री अथवा उसके परिवार के सदस्यों में कोरोना के लक्षण की जानकारी मिलने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी स्तर से तत्काल उनकी आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल लेकर लैब भेजे जाएंगे। डीएम गौतमबुद्धनगर को विशेष रूप से राज्य सरकार की ओर से नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है, जो अंतरराष्ट्रीय यात्रियों का विवरण उपलब्ध कराएंगे।

अपर मुख्य सचिव, गृह ने कहा है कि अपर जिलाधिकारी व अपर पुलिस अधीक्षक की संयुक्त टीम सभी रेलवे स्टेशन व बस अड्डों पर यात्रियों की कोरोना के सैंपल व मेडिकल टीम की व्यवस्था का निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट दो दिनों में गृह विभाग के कंट्रोल रूम को उपलब्ध करायेगी। जिला स्तरीय अधिकारियों को रेलवे स्टेशनों का निरीक्षण कर स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से वहां पर्याप्त मेडिकल टीम व कोरोना के सैंपल लिए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया है। विशेषकर अंतरराज्यीय बस अड्डों पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनि‍ंग की व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने का निर्देश भी दिया गया है।

संक्रमण फैलने पर तय होगा उत्तरदायित्व : अपर मुख्य सचिव, गृह ने कहा है कि यदि बाहर से आने वाले यात्रियों के कारण कहीं संक्रमण फैलता है तो जिले के संबंधित अधिकारियों का उत्तरदायित्व तय किया जाएगा।

Edited By: Anurag Gupta