लखनऊ, जेएनएन। परीक्षा नजदीक है। ऐसे में मॉडल पेपर और हैंड नोट्स पर फोकस करें। यह कम समय में पूरी तैयारी का फिट फॉर्मूला है। साथ ही प्रश्नों को लिखकर याद करें। इससे पेपर हल करने का अभ्यास हो जाएगा। लिहाजा परीक्षा में टाइम मैनेजमेंट नहीं गड़बड़ाएगा। 

प्रश्न : जीव विज्ञान में अच्छे अंक कैसे हासिल किए जा सकते हैं। युवराज,  लखीमपुर

उत्तर : तय शब्दों में लिखें। उत्तर को  अनावश्यक बढ़ाकर न लिखें। जहां पर जरूरी हो रेखाचित्र भी बनाएं। बड़े प्रश्नों में एक साथ लंबा लिखने के बजाए मुख्य बिंदुओं की सब हेडिंग डालकर व्याख्या करें।

प्रश्न : स्पेसीज के साइंटिफिक नाम कठिन हैं। उन्हें याद रखना मुश्किल होता है। क्या करें अभिनव शुक्ला, अयोध्या

जवाब: कक्षा 12 में साइंटिफिक नाम से जुड़े सवाल कम आते हैं। बावजूद, इन्हें याद रखना जरूरी है। ऐसे में लिखकर याद करें।

प्रश्न: परीक्षा की बेहतर तैयारी के लिए क्या करें। हर्षित सिंह तोमर, लखीमपुर

जवाब : मॉडल पेपर अधिक से अधिक हल करें। नोट्स से रिवाइज करिए। लिखकर तैयारी करें। कम से कम तीन बार रिवीजन जरूर करें।

प्रश्न : मानव की आहार नली व पाचन सिस्टम बार-बार भूल जाता हूं।

उत्तर : इसको डायग्राम से समझें। शरीर में माउथ, इसोफेगस, एब्डॉमिन की पोजीशन समझें। इसके साथ ही साइंटफिक नाम याद रखें।

प्रश्न : कैसा पेपर आएगा। कुछ महत्वपूर्ण टॉपिक बताएं।

उत्तर : एनसीईआरटी पाठ्यक्रम से ही पेपर आएगा। अनुवांशिकी, पारिस्थितिकी, जनन का चैप्टर पढ़ लें। मॉडल पेपर हल करें।

प्रश्न : गत वर्ष की पुस्तक से भी सवाल आ सकते हैं क्या। शैलेंद्र, मोहनलाल गंज

उत्तर : कोर्स और पैटर्न बदल गया है। अनसॉल्व तो पुराने कोर्स के नए में भी मिल जाएंगे। मगर आप बदले पैटर्न व कोर्स से ही तैयारी करें।

प्रश्न : डायग्राम कैसे याद करें। अंशिका सिंह, लखनऊ

उत्तर :डायग्राम रटे नहीं। उसे समझें फिर बनाने का अभ्यास करें।

प्रश्न :जीवविज्ञान में डायग्राम बिल्कुल समझ में नहीं आता, क्या करें। अनुष्का मौर्या, हरदोई

उत्तर: लेबलिंग के साथ डायग्राम बनाने की प्रैक्टिस करें। इससे गलती की गुंजाइश नहीं रहेगी। स्टेप का ध्यान रखना जरूरी है।

प्रश्नों: परीक्षा में काफी कम समय बचे हैं, कैसे तैयारी करें।   आराध्य वाजपेयी,  सीतापुर

जवाब: अधिक से अधिक मॉडल पेपर हल करें। लिखकर अभ्यास करें। हैंड नोट्स से पढ़ें।

सवाल: कक्षा 10 में हूं। किस अध्याय से कितने अंक के सवाल आएंगे। सुमित कश्यप, बहराइच

जवाब: छह चैप्टर हैं। जैव प्रक्रम, नियंत्रण व समन्वय और जीव जनन मिलाकर 15 अंकों का होगा। वहीं अनुवांशिकी, पर्यावरण, एवं संसाधनों का प्रबंधन से दस अंकों के सवाल पूछे जाएंगे।

प्रश्न : अनुवांशिकी और जैव विकास समझ में नहीं आ रहा है। राममोहन, हरदोई

उत्तर : अनुवांशिकता में टर्मिनोलॉजी है। एक तरफ से पढ़ें। एक शंकर, द्विशंकर, युग्मक निर्माण क्रम से सीखें। इससे पूरा चकर बोर्ड बना सकते हैं। जैव विकास में जीवन और मानव का विकास कैसे हुआ, यह समझें।

सवाल: टाइम मैनेजमेंट कैसे करें, जिससे परीक्षा में कोई प्रश्न छूटने न पाए। जयेंद्र सिंह, बहराइच

उत्तर : बहुविकल्पीय प्रश्न पर सिर्फ पांच मिनट दें। दो अंकों के लघु उत्तरीय प्रश्नों पर दस से 15 मिनट दें। 3 अंकों के लघुउत्तरीय प्रश्न जिनकी संख्या 12 है। इनको लगभग डेढ़ घंटे में करने का प्रयास करें। वहीं पांच अंकों के विस्तृत उत्तरीय प्रश्नों को कुल 45 मिनट दें।

प्रश्न : जीव विज्ञान में डायग्राम की तैयारी कैसे करूं। अनुराग, लखीमपुर

उत्तर : डायग्राम को पहले किताब में देखें। समझकर खुद बनाएं। इस दौरान लेवलिंग का ध्यान रखें।

प्रश्न: इंटर में हूं। परीक्षा में अंकों का विभाजन कैसा होगा। गरिमा कश्यप, बहराइच

उत्तर :पांच यूनिट में पहली जनन से 14 अंक, अनुवांशिकी एवं विकास से 18 अंक, मानव कल्याण में जीव विज्ञान से 14 अंक, जैव प्रौद्योगिकी से 10 व पारिस्थतिकी से 14 अंक कुल 70 अंकों के सवाल पूछे जाएंगे।

प्रश्न : कक्षा 10 में हूं। सबसे अधिक नंबर के प्रश्न किस टॉपिक से आएंगे। नित्या पाठक, बहराइच

उत्तर : मादक पदार्थ, अनुवांशिकता, जैव प्रौद्योगिकी, जीवन की प्रक्रिया संबंधी टॉपिक महत्वपूर्ण हैं। इन्हें अवश्य तैयार कर लें।

प्रश्न: दीर्घ उत्तरीय सवाल समझ में नहीं आते हैं। मनीष, रायबरेली

जवाब: पूरा एक साथ रट्टा न मारें। प्वाइंट वाइज समझें। दिए गए डायग्राम जरूर बनाएं।

प्रश्न :परीक्षा की तैयारी के लिए क्या स्ट्रैटजी अपनाई जाए। दीपिका सिंह, लखनऊ

जवाब: चैप्टर वाइज जो नोट्स बनाए हैं, उसी से तैयारी करें। दिन के अनुसार टॉपिक्स को बांट लें। मॉडल पेपर हल करें।

प्रश्न: वंशागति के सवाल समझ नहीं आते। मुस्कान सिंह, लखनऊ

जवाब: चेकर बोर्ड बनाकर याद करना होगा। साथ ही प्रभावित क्रोमोजोम के आधार पर रेखाचित्र के जरिए चार्ट बनाएं।

कक्षा 12 : ऐसा होगा प्रश्न पत्र

  • बहुविकल्पीय :एक एक अंक के चार प्रश्न
  • अतिलघुउत्तरीय : एक अंक के पांच प्रश्न
  • लघु उत्तरीय : दो अंक के पांच प्रश्न
  • लघु उत्तरीय: तीन अंक के बारह प्रश्न
  • विस्तृत उत्तरीय: पांच अंक के तीन प्रश्न

किस पाठ से कितने अंक

  • जनन रिप्रोडक्शन: 14 अंक
  • अनुवांशिकी तथा विकास 18 अंक
  • मानव कल्याण में जीव विज्ञान: 14 अंक
  • जैव प्रौद्योगिकी :10 अंक
  • पारिस्थितिकी : 14 अंक
  • कुल   :70 अंक

कक्षा 10 : ऐसा होगा प्रश्न पत्र

  • जीव विज्ञान खंड ग का प्रारूप 25 अंक का होगा
  • बहुविकल्पीय : एक अंक के चार प्रश्न
  • लघुउत्तरीय : दो अंक के तीन प्रश्न
  • लघुउत्तरीय : चार अंक के दो प्रश्न
  • विस्तृत उत्तरीय: सात अंक का एक प्रश्न

किस इकाई से कितने अंक:

  • जैव प्रक्रम, नियंत्रण व समन्वय एवं जीव जनन: 15अंक
  • अनुवांशिकता, पर्यावरण एवं संसाधनों का प्रबंधन : 10 अंक

गुरु मंत्र

  • यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर पहले ऑनलाइन मॉडल पेपर समझ लें
  • अधिक से अधिक मॉडल पेपर हल करें
  • कोर्स को कम से कम तीन बार अवश्य रिवीजन करें।
  • लिखकर याद करने पर फोकस करें, इससे पेपर जल्द हल करने की आदत बनेगी
  • अधिक रटने के बजाए समझने की कोशिश करें
  • समय व शब्द सीमा का विशेष ध्यान दें जिससे कोई प्रश्न छूटे न।
  • कमजोर छात्र पारिस्थितिकी एवं अनुवांशिकी पर विशेष ध्यान देकर नंबर स्कोर कर सकते हैं।
  • विस्तृत उत्तरीय प्रश्न एवं लघु उत्तरीय प्रश्न में अंकों का विभाजन दिया गया हो तो उसी प्रकार से संक्षिप्त करके उत्तर दें। 

Posted By: Anurag Gupta