लखनऊ, जेएनएन। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) खनन घोटाले के मामले में जल्द दो और आइएएस अधिकारियों से पूछताछ करेगा। सहारनपुर खनन घोटाले में आरोपित आइएएस अधिकारी अजय कुमार सिंह और पवन कुमार समेत 12 आरोपितों को इसी माह पूछताछ के लिए तलब करने की तैयारी है। सीबीआइ छापे के दौरान आइएएस अधिकारी अजय सिंह के घर से बरामद 15 लाख रुपये के बाबत भी ईडी उनसे सवाल-जवाब करेगा। ईडी आरोपितों की संपत्तियों का ब्योरा भी जुटा रहा है।

ईडी ने सहारनपुर खनन घोटाले में सीबीआइ की एफआइआर के आधार पर मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया है। ईडी इससे पूर्व हमीरपुर, फतेहपुर व देवरिया समेत अन्य जिलों में हुए खनन घोटालों में भी केस दर्ज कर जांच कर रहा है। ईडी पहले खनन घोटाले में हमीरपुर की तत्कालीन डीएम बी.चंद्रकला, फतेहपुर के तत्कालीन डीएम अभय सिंह, देवरिया के डीएम विवेक समेत आठ आइएएस अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज कर चुका है। ईडी ने कोर्ट से अनुमति लेकर खनन घोटाले में आरोपित पूर्व मंत्री गायत्री प्रसाद प्रजापति से भी बीते दिनों लंबी पूछताछ की थी। 

सहारनपुर में अवैध मौरंग खनन से जुड़े हमीरपुर के तार

सहारनपुर अवैध मौरंग खनन के तार हमीरपुर से जुड़ रहे हैं। सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज मामले में नामजद एक आरोपित के पिता पूर्व एमएलसी मो. इकबाल हमीरपुर अवैध खनन सिंडीकेट वसूली में शामिल रहे हैं। इस संबंध में अधिवक्ता विजय द्विवेदी ने सीबीआइ को प्रपत्र दिए हैं। मो. इकबाल पर भी इस मामले में मुकदमे दर्ज हैं। जिले में डीएम बी चंद्रकला सहित 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज है। वर्ष 2012 से 16 तक अवैध मौरंग खनन के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करने वाले अधिवक्ता विजय द्विवेदी ने बताया कि तत्कालीन शासन व प्रशासन की मिलीभगत से करीब दो दर्जन जिलों में अवैध खनन व सिंडीकेट वसूली की गई। हाईकोर्ट ने जांच सीबीआइ को सौंपी थी। सीबीआइ द्वारा पहले हमीरपुर, सहारनपुर, देवरिया, फतेहपुर, कौशांबी व शामली में जांच शुरू की गई थी। सोमवार को सहारनपुर में अवैध खनन को लेकर ईडी ने वहां डीएम रहीं बी चंद्रकला, बसपा के पूर्व एमएलसी मो. इकबाल के पुत्र मो. वाजिद सहित एक दर्जन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप