मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लखनऊ (जेएनएन)। एपल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की पुलिस की गोली से मौत के बाद लखनऊ में उनके आवास पर सियासत तेज हो गई है। रविवार सुबह उनकी अंत्येष्टि के दौरान योगी आदित्यनाथ सरकार के दो कैबिनेट मंत्री मौजूद रहे। वहीं, न्यू हैदराबाद स्थित आकाश गंगा अपार्टमेंट स्थित विवेक तिवार के आवास पर शाम को एक के बाद एक सियासत तेज दिखाई दी। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या से लेकर मेयर संयुक्ता भाटिया, सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया, उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा व महंत दिव्या गिरी ढांढस बंधाने पहुंचे।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद ने बंद कमरे में की परिजनों से बात
विवेक तिवारी के परिजन से मुलाकात करने पहुंचे उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ढांढस बंधाया। इसके बाद बंद कमरे में करीब 25 मिनट तक विवेक के परिजन से बातचीत की। पत्रकारों के सवाल पर कहा कि परिजनों की मांगों पर सरकार सहमत है। जितनी जल्दी परिवार चाहेगा उतनी जल्दी सरकारी नौकरी समेत अन्य मांगों को पूरा किया जाएगा। विवेक के हत्यारों को सरकार कठोरतम दंड दिलाएगी।

वहीं, केशव ने कहा कि विवेक के साथ हुई घटना की कल्पना नहीं की जा सकती। घटना की जांच शीघ्र पूरी करने के निर्देश दिए गए हैं। विवेक के आश्रितों की सुरक्षा व्यवस्था व उनकी मांगों को पूरा करने में कोई समस्या होगी। पुलिस का काम अपराधियों पर कार्रवाई करना है। लेकिन, यदि पुलिस निर्दोषों पर कार्रवाई करेगी तो सरकार इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। भविष्य में ऐसी घटना दोबारा न हो, इसके लिए सरकार कठोर कदम उठा रही है। उधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा बेगुनाह को गोली मारने के बयान पर केशव ने कहा कि किसी की मौत पर राजनीति नहीं करनी चाहिए।
 

विवेक की पत्नी को योग्यता के मुताबिक मिलेगी नियुक्ति : मेयर
मेयर संयुक्ता भाटिया ने रविवार शाम पांच बजे विवेक के आवास पर उनकी पत्नी व परिजन से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि सरकार की संवेदना पीडि़त परिवार के साथ है। विवेक की पत्नी को नगर निगम में योग्यता के अनुसार पद पर नियुक्ति दी जाएगी। हम पीड़ित परिवार के साथ है, हमारे मुखिया भी इनकी चिंता कर रहे हैं। महिला होने के नाते हम उनका दर्द समझते हैं।

विवेक के आश्रितों को पांच करोड़ दें मुआवजा : भदौरिया
सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने विवेक के आश्रितों को पांच करोड़ मुआवजा देने की मांग की। रविवार दोपहर करीब तीन बजे अपार्टमेंट में परिजन से मिलने के बाद उन्होंने कहा कि विवेक के साथ हुई घटना दुखद है। ऐसी घटना पर सियासत नहीं होनी चाहिए। सरकार विवेक की पत्नी को नौकरी के साथ तत्काल सुरक्षा व मांग के अनुसार मुआवजा दे।

उधर, शाम करीब सात बजे तक उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने विवेक तिवारी के परिवार से मुलाकात कर कार्रवाई का आश्वासन दिया।

वहीं, कुछ देर पहले पहुंची महंत दिव्या गिरी ढांढस बंधाने विवेक तिवारी के परिवार से मिलने पहुंचीं।
 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप