लखनऊ, जेएनएन। राजधानी में कोविड 19 को देखते हुए हालात बेकाबू हो रहे हैं। अस्पतालों में मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिल पा रहे हैं। यहां तक कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए हेल्पलाइन नंबरों पर भी ऑक्सीजन नहीं मिल पा रहे हैं। ऐसे में राजधानी के तालकटोरा में ऑक्सीजन सिलिंडर न मिलने पर लोगों ने ड्रग इंस्पेक्टर को घेरकर जमकर हंगामा किया। 

तालकटोरा के गढ़ीकनौरा में आक्सीजन सिलिंडर लेने के लिए सोमवार को तीमारदार सुबह से लाइन लगाकर खड़े थे। इस बीच वहां पहुंची ड्रग इंस्पेक्टर ने अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई करने की बात कही और लोगों को ऑक्सीजन देने से मना कर दिया। इस पर तीमारदार आक्रोशित हो गए और ड्रग इंस्पेक्टर को घेर लिया। देखते ही देखते वहां हंगामा शुरू हो गया। इसके बाद आलमबाग पुलिस वहां पहुँची और किसी तरह लोगों को शांत कराया।राजाजीपुरम निवासी राजीव बंसल की गढ़ीकनौरा में आयुध आक्सीजन प्राइवेट लिमिटेड के नाम से आक्सीजन प्लांट है। कोरोना वैश्विक महामारी के चलते तीमारदार सुबह से आक्सीजन सिलेण्डर लेने के लिए लाइन लगाए हुए थे। सोमवार दोपहर में ड्रग इंस्पेक्टर माधुरी प्लांट पहुंच गईं। आरोप है कि ड्रग इंस्पेक्टर ने प्लांट पर तीमारदारों को दी जा रही सप्लाई न देकर अस्पताल में सप्लाई देने की बात कही। इसको लेकर तीमारदार आक्रोशित हो गए और लोगो ने ड्रग इंस्पेक्टर को घेर लिया।

इस दौरान वहां जमकर हंगामा हुआ। ड्रग इंस्पेक्टर ने खुद को घिरा देख पुलिस को सूचना दी। आलमबाग इंस्पेक्टर अशोक कुमार सिंह ने लोगों को समझा-बुझाकर शान्त कराया। मामले की गंभीरता को देखते हुए तीमारदारों को लाइन में लगवाकर सिलेंडर बंटवाया गया। इसके बाद हंगामा बन्द हुआ।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप