लखनऊ, जेएनएन। लखनऊ रेसकोर्स में आयोजित सीजन की तीसरी रेस में रविवार को अप्रत्याशित हुआ। रेस के लिए ट्रैक पर छह घोड़े उतारे गए, लेकिन रफ्तार सिर्फ तीन ने पकड़ी। सबका चहेता बन चुका व हैट्रिक लगाने के लिए उतरा विजय एस ज्वॉय भी ट्रैक से गायब दिखा। उसके साथ पिछली रेस में दूसरे स्थान रहा डार्क टाइगर भी नजर नहीं आया। इन्हीं दोनों पर सबसे ज्यादा दांव लगे थे। लोग हैरान थे। उनको अपनी आंखों पर भरोसा नहीं हो रहा था। घुड़दौड़ के शौकीनों ने कारण जानने की भी कोशिश की आयोजकों के जवाब से कोई संतुष्ट नहीं दिखा। हालांकि रेस ड्रीम डील के नाम रही। वहीं, इंडियन ब्रीड में खुला तारा ने बाजी मारी। 

रविवार को लखनऊ रेसकोर्स के एंटी क्लाक टैक पर सीजन की तीसरी रेस देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हुए। इंडियन ब्रीड की रेस के लगभग डेढ़ घंटे बाद थारो ब्रीड की रेस की घोषणा हुई। एक-एक कर छह घोड़ों ने ट्रैक पर अभिवादन किया। इसमें हैट्रिक लगाने के लिए उतावला विजय एस ज्वॉय भी था, लेकिन वह दौड़ में शामिल नहीं हुआ। दोपहर 1:32 बजे फ्लैग ऑफ होते ही घोड़ों ने रफ्तार पकड़ी। ट्रैक पर सिर्फ तीन घोड़ों को रफ्तार भरता देख लोग हैरान रह गए। 

ड्रीम डील के सिर पर बंधा सेहरा

महज तीन घोड़ों की रेस में ड्रीम डील के सिर पर जीत का सेहरा बंधा। उसे पिछली रेस में तीसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा था। दूसरे स्थान पर पॉलिसी मेकर रहा, जबकि क्लाउड डांसर तीसरे स्थान पर रहा। शुरुआत में पॉलिसी मेकर व ड्रीम डील में कड़ा मुकाबला हुआ, लेकिन लगभग 400 मीटर की दूरी पार करने के बाद ड्रीम डील की रफ्तार अचानक बढ़ गई और बड़े अंतर से पॉलिसी मेकर को पीछे छोड़ दिया। मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद मेजर जनरल प्रवेश पुरी ने ड्रीम डील के मालिक अमर हबीबुल्ला को दस हजार व शील्ड, पॉलिसी मेकर के मालिक रजनीश चोपड़ा को सात हजार व क्लाउड डांसर के मालिक अमर हबीबुल्ला को पांच हजार रुपये के पुरस्कार से सम्मानित किया।

विजय एस ज्वॉय पर लगा सबसे ज्यादा दांव 

सीजन की दो रेस में लगातार जीत हासिल कर चुका विजय एस ज्वॉय तीसरी रेस में हैट्रिक मारने के लिए उतरा था। उसके प्रदर्शन को देखकर सबसे ज्यादा दांव भी इसी घोड़े पर लगा था। कुल 31 हजार 230 रुपये के दांव में 18 हजार 440 रुपये विजय एस ज्वॉय पर लगा था। पिछली रेस में दूसरे स्थान पर रहने वाले डार्क टाइगर पर 4,560 रुपये व सुपर डुपर पर 1,580 रुपये की बाजी लगी थी। रेस में विजयी बने ड्रीम डील पर 2,860 रुपये, दूसरे स्थान पर रहे पॉलिसी मेकर पर 1,180 रुपये व तीसरे स्थान पर रहे महज 570 रुपये का दांव लगा था। 

पैसा करना पड़ा वापस 

महज तीन घोड़ों के ही दौडऩे पर आयोजकों पर आरोप लगाना शुरू कर दिया। सभी अपना पैसा वापस मांगने लगे। अंत में घुड़दौड़ की नियमावली खंगाली गई। पता चला कि जो घोड़े दौड़ में शामिल नहीं होंगे उन पर लगा पैसा वापस कर दिया जाएगा। इसके बाद लोगों को तीनों घोड़ों पर लगा कुल 25 हजार 420 रुपये वापस कर दिया गया।

इंडियन ब्रीड में खुला तारा ने मारी बाजी

इससे पहले इंडियन ब्रीड के घोड़ों की दौड़ में एक बार फिर खुला तारा ने बाजी मारी है। 800 मीटर की दौड़ में नाइट क्वीन को दूसरे व शिवराज को तीसरे स्थान पर छोड़ा। खुला तारा को 5000, नाइट क्वीन को 3000 व शिवराज को 2000 रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया।

 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस