लखनऊ, जेएनएन। अवध शिल्प ग्राम में बन रहा 500 बेड का कोविड केअर अस्पताल भारत रत्न व पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी के नाम समर्पित होगा। डीआरडीओ के इस काेविड अस्पताल का नाम अटल बिहारी वाजपेयी कोविड अस्पताल होगा। अटल विहारी बाजपेयी कोविड अस्पताल की तैयारियां अंतिम चरण में पहुंच गईं हैं। यहां दो आईसीयू वार्ड होंगे। जिनमें 150 बेड होंगे। इसके अलावा 350 बेड का एक जनरल वार्ड होगा। जिसमे ऑक्सीजन की सुविधा होगी। 

कोविड अस्पताल में दो में से आईसीयू वार्ड नम्बर एक तैयार हो गया। यहां आईसीयू बेड के साथ लाइफ सपोर्ट सिस्टम को भी जोड़ दिया गया। साथ ही हर लेन में ऑक्सीजन की उपलब्धता बताने वाला मीटर भी शुरू हो गया। अब आईसीयू वार्ड नम्बर दो में भी बेड लगाने का काम शुरू होगा। यहां डीआरडीओ और सेना के तीनों अंगों के डॉक्टरों की मौजूदगी में आईसीयू और ऑक्सीजन वार्ड का ट्रायल किया जाएगा। वही कोरोना संक्रमित रोगियों को लाने वाली एम्बुलेंस से मरीजो को उतारकर उनको पहले ट्राईएज भवन में रखा जाएगा। यहां बने कई केबिन में रोगी की आरटीपीसीआर, सिटी स्कैन और प्रारंभिक जांच के बाद यह तय किया जाएगा कि रोगी को आईसीयू में शिफ्ट करना है या फिर ऑक्सीजन वार्ड में भेजा जाएगा। इस अस्पताल में 24 घंटे सैन्य डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के लिए भी डोफिंग रूम बनाये गए हैं।।अस्पताल में प्रवेश के समय लोगो को सैनिटाइज की प्रक्रिया से भी गुजरना होगा। वही ऑक्सीजन वार्ड के लिए बेड को असेम्बल करने का काम भी अंतिम चरण में चल रहा है। 

इधर एचएएल बनाएगा 255 बेड का अस्पताल: हज हाउस में भी अगले सप्ताह तक 255 बेड का कोविड अस्पताल एचएएल तैयार कर लेगा। इनमें 25 बेड का आईसीयू होगा। वही शेष 230 बेड ऑक्सीजन सपोर्ट वाला होगा। एचएएल के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक शीर्ष स्तर पर इसे लेकर तैयारी चल रही है।