लखनऊ, जेएनएन। 35वीं वाहिनी पीएसी के मैदान में मंगलवार को 22 राज्यों की पुलिस व केंद्रीय बलों की सात टुकड़ियों ने एक कतार में मार्च पास्ट किया। 62वीं अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट के शुभारंभ का यह दृश्य बिलकुल अलग था। उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने मार्च पास्ट की सलामी ली और हवा में गुब्बारे छोड़कर पुलिस ड्यूटी मीट का शुभारंभ किया।

मुख्य अतिथि डॉ.शर्मा ने कहा कि पुलिसकर्मियों के पास अपने अच्छे कामों की प्रतिस्पर्धा व एक-दूसरे से सीखने का बड़ा मौका है। पुलिसकर्मी आतंकवाद, नक्सलवाद, भ्रष्टाचार से लेकर अन्य चुनौतियों का सामना पुलिस व सुरक्षा बलों के जवान बड़ी बहादुरी से करते हैं। एडीजी कानून-व्यवस्था पीवी रामाशास्त्री ने डॉ.शर्मा को स्मृति चिह्न भेंट किया। इस मौके पर एडीजी पीएसी बिनोद कुमार सिंह, एडीजी तकनीकी सेवाएं आशुतोष पांडेय, डीजीपी के जीएसओ एडीजी सुजीत कुमार पांडेय, एडीजी एटीएस असीम अरुण समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

यूपी को पहले दिन ही मिला गोल्ड

कंप्यूटर अवेयरनेस प्रतियोगिता में 20 साल बाद यूपी पुलिस ने अपना जलवा बिखेरा और पदों का टोटा गोल्ड मेडल से दूर किया। पुलिस में बढ़ती तकनीक के बीच इस प्रतियोगिता में यूपी की जीत उत्साहित करने वाली है। कंप्यूटर प्रोग्रामिंग की श्रेणी में यूपी की टीम ने पिछली विजेता कर्नाटक को पीछे कर दिया। यूपी की टीम 63 अंक लेकर पहले, कर्नाटक 60 अंक के साथ दूसरे तथा तमिलनाडु की टीम 46 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रही। 23 टीमों के बीच हुए मुकाबले में कंप्यूटर प्रोग्राम की भाषा से जुड़े सवालों के साथ प्रोग्रामिंग भी दी गई। एडीजी आशुतोष पांडेय ने बताया कि यूपी टीम में शामिल निरीक्षक तरु माथुर व प्रमोद कुमार ने शानदार प्रदर्शन किया। दोनों एमसीए करने के बाद पुलिस में भर्ती हुए थे। वर्तमान में दोनों निरीक्षक तकनीकी सेवाएं में प्रोग्रामर के पद पर तैनात हैं। डीजीपी ओपी सिंह ने विजेताओं को बधाई दी है।

अपराधियों को पकड़ने वाले श्वान मु्काबले को तैयार

लखनऊ पुलिस लाइन में मंगलवार दोपहर देश के श्रेष्ठ पुलिस डॉग एक जगह मौजूद थे और एक-दूसरे को कड़ा मुकाबला देने के लिए तैयार हैं। कर्नाटक, करेल व तमिलनाडु पुलिस के बेल्जियन ब्रीड के डॉग मादक पदार्थ के तस्करों को पकडऩे में माहिर हैं तो बिहार पुलिस की टीम में शराब तस्करों को पकड़ने वाले श्वान शामिल हैं। बेल्जियन डॉग अब बुधवार को लैब्राडोर, डोबरमैन और जर्मन शेफहर्ड नस्ल के डॉग के साथ मुकाबला करेंगे। दिल्ली पुलिस का खास ट्रैकर डॉग 'बाबू' भी इनमें शामिल होगा। पुलिस ड्यूटी मीट में अव्वल रह चुका लैब्राडोर 'बाबू' भीड़ में घूम रहे संदिग्ध तक पहुंचने का हुनर रखता है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस