लखनऊ, जेएनएन। रामनगरी अयोध्या में पांच अगस्त को होने वाले भूमि पूजन तथा शिला पूजन कार्यक्रम फाइनल हो गया है। कोरोनावायरस के चलते रक्षा मंत्री और लखनऊ के सांसद राजनाथ स‍िंंह अयोध्‍या नहीं जाएंगे। पहले उनका लखनऊ आने का कार्यक्रम था, ज‍िसे रद कर द‍िया गया है। रक्षामंत्री राजनाथ स‍िंंह के बेटे और भाजपा के युवा नेता नीरज स‍िंंह ने यह जानकारी दी। पूर्व मुख्‍यमंंत्री कल्‍याण स‍िंंह भी भूम‍ि पूजन समारोह में नहीं शाम‍िल होंगे। वहीं अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास अवसर पर संघ प्रमुख मोहन भागवत सरकार्यवाह भइया जी जोशी मंगलवार को लखनऊ आएंगे और शाम को अयोध्‍या रवाना होंगे।

भाजपा युवा नेता नीरज स‍िंंह ने सोमवार शाम को बताया क‍ि रक्षा मंत्री अयोध्‍या में होने वाले कार्यक्रम में नहीं शाम‍िल होंगे। नीरज स‍िंंह ने बताया क‍ि अयोध्‍या में होने वाले भूम‍ि भूजन में बहुत सारे वीवीआइपी शाम‍िल हो रहे हैं। कोरोनावायरस के कारण भीड़ ज्‍यादा न होने पाए इसल‍िए रक्षा मंत्री ने अयोध्‍या जाने का कार्यक्रम रद कर द‍िया है। गृह मंत्री अमित शाह तथा यूपी भाजपा के कई नेताओं के संक्रमण की चपेट में आने के बाद सुरक्षा की दृष्‍ट‍ि से यह कदम उठाया गया है। श्रीराम जन्‍मभूम‍ि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्‍ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण और स्‍वास्‍थ्‍य कारणों से पूर्व मुख्‍यमंत्री कल्याण सिंह भूम‍ि पूजन के कार्यक्रम में नहीं शाम‍िल होंगे।

वहीं संघ प्रमुख मोहन भागवत सरकार्यवाह भइया जी जोशी समेत संघ के प्रचारक अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के शिलान्यास कार्यक्रम में शाम‍िल होंगे। संघ के दोनों शीर्ष पदाधिकारी मंगलवार सुबह लखनऊ आएंगे और निराला नगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में रुकेंगे। यहां वह संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक भी करेंगे और शाम को सड़क मार्ग से अयोध्या के लिए रवाना हो जाएंगे। लखनऊ से अयोध्या संघ के कौन-कौन प्रमुख पदाधिकारी जाएंगे इसे लेकर सोमवार देर शाम संघ कार्यालय भारती भवन में बैठक चल रही है।

गौरतलब है क‍ि भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती को पांच अगस्त को रामनगरी अयोध्या में भूमि पूजन में शामिल होने का निमंत्रण मिल गया है। इसके बाद भी मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती भूमि पूजन में शामिल नहीं होंगी। 61 वर्षीया उमा भारती भूमि पूजन के समय अयोध्या में सरयू नदी के तट पर रहेंगी। पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने आज ट्विटर पर अपनी योजना साझा की। वह भूमि पूजन के दौरान सरयू तट पर रहेंगी। राम मंदिर आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाली उमा भारती पांच अगस्त को भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगी। इस दौरान वह अयोध्या में जरूर रहेंगी, लेकिन भूमि पूजन कार्यक्रम से दूरी बनाए रखेंगी। उन्होंने कहा इसकी सूचना उन्होंने अयोध्या में रामजन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ अधिकारी और पीएमओ को दे दी है कि नरेंद्र मोदी के शिलान्यास कार्यक्रम के समय उपस्थित समूह के सूची में से मेरा नाम अलग कर दें।

अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब भूमि पूजन कर रहे होंगे तब उमा भारती सरयू तट पर प्रार्थना करेंगी। उन्होंने भूमि पूजन में हिस्सा न लेने के पीछे कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा बताया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह व भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह सहित कई अन्य नेता कोरोना की चपेट में आ गए हैं, जिससे उमा भारती की चिंताएं बढ़ गई हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने ट्वीट कर कहा कि राम नगरी के भूमि पूजन कार्यक्रम में आएंगी, लेकिन मंदिर स्थल पर न रहकर सरयू नदी के तट पर रहेंगी।

ट्वीट में कहा कि कल जब से मैंने अमित शाह जी तथा यूपी भाजपा के नेताओं के कोरोना पॉजिटिव होने के बारे में सुना तभी से मैं अयोध्या में मंदिर के शिलान्यास में उपस्थित लोगों के लिए खासकर पीएम नरेंद्र मोदी जी के लिए चिंतित हूं, इसलिए मैंने रामजन्मभूमि न्यास के अधिकारियों को सूचना दी है की शिलान्यास के कार्यक्रम के मुहूर्त पर मै अयोध्या में सरयू के किनारे पर रहूंगी। उमा भारती ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी व अन्य लोगों के जाने के बाद रामलला के दर्शन करेंगी। वह भोपाल से सोमवार को रवाना होगी। इसके बाद मंगलवार की शाम तक अयोध्या पहुंचेगी।  

Posted By: Anurag Gupta

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस