लखनऊ, जेएनएन। पेंशन से जुड़ी विसंगतियों के लिए भटक रहे पूर्व सैनिकों और दिवंगत पूर्व सैनिकों की पत्नियों की समस्या का समाधान रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में होगा। मध्य कमान की ओर से रक्षा पेंशन अदालत का आयोजन छावनी स्थित एएमसी केंद्र एवं कॉलेज स्टेडियम में 23 नवंबर को किया जाएगा। पेंशन अदालत में दूरदराज से आने वाले पूर्व सैनिकों के लिए चारबाग रेलवे स्टेशन व चारबाग बस अड्डा से सेना बसों की सुविधा उपलब्ध कराएगी। 

इस रक्षा पेंशन अदालत में पेंशन से जुड़ी शिकायतों का मौके पर निपटारा करने के लिए रक्षा लेखा के प्रधान नियंत्रक पेंशन प्रयागराज के अधिकारियों की टीम भी यहां मौजूद रहेगी। मध्य कमान मुख्यालय की जनसंपर्क अधिकारी गार्गी मलिक सिन्हा ने बताया कि रक्षा पेंशन अदालत का काम 23 नवंबर को सुबह नौ बजे से शुरू होगा। पेंशन अदालत के दौरान पेंशनरों के दस्तावेजों से जुड़े मामलों के निपटारे के लिए सभी सैन्य रेजीमेंट के अभिलेख कार्यालय के वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पर मौजूद रहेंगे।

वहीं पेंशन अदालत के दौरान उनका स्वास्थ्य परीक्षण के लिए ईसीएचएस पॉलीक्लीनिक के डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ भी मौजूद रहेगा। पूर्व सैनिकों को पुन: रोजगार देने के लिए आर्मी प्लेसमेंट नोड के अधिकारी भी रहेंगे। इसके अलावा पेंशनर्स की सुविधाओं के लिए कई स्टाल बनाए जाएंगे। 

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस