लखनऊ, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण के कहर का प्रदेश में हो रहे पंचायत चुनाव के कारण भी तेजी से बढ़ रहा है। शहर से गांवों की ओर रुख कर चुकी कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर बेहद भयावह हो चुकी है। अयोध्या में जिला पंचायत सदस्य पद की प्रत्याशी पूर्व सांसद मित्रसेन यादव की बहू और पशुपालन घोटाले में जेल में बंद आइपीएस अधिकारी अरविंद सेन की पत्नी प्रियंका सेन का कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया।

उन्होंने सुबह करीब 4 बजे इलाज के दौरान ही दम तोड़ दिया। सीने में जकड़न के बाद उन्हें शनिवार रात करीब 2 बजे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। प्रियंका को समाजवादी पार्टी ने अयोध्या की हैरिंग्टनगंज तृतीय से जिला पंचायत पद की उम्मीदवार के तौर पर चुनाव में उतारा था। 15 मई को पहले चरण का मतदान हुआ था। 2 मई को चुनाव का रिजल्ट आना था।

लखनऊ की जेल में बंद आइपीएस अधिकारी अरविंद सेन की पत्नी प्रियंका सेन अयोध्या से जिला पंचायत सदस्य पद की प्रत्याशी थी। सपा की महिला प्रदेश सचिव प्रियंका सेन दो दिन पहले ही कोरोना वायरस से संक्रमित हो गई थीं। नामांकन करने के बाद वह अपने चुनाव प्रचार में व्यस्त थीं। समाजवादी पार्टी से प्रत्याशी प्रियंका सेन यादव का रविवार को निधन हो गया। अयोध्या के थाना इनायतनगर के भिटारी गांव की निवासी प्रियंका सेन यादव हैरिंग्टनगंज तृतीय से जिला पंचायत सदस्य प्रत्याशी थी।

प्रियंका सेन यादव समाजवादी पार्टी से समर्थित प्रत्याशी थी। इससे पहले वह एक बार ब्लॉक प्रमुख भी रह चुकी हैं। प्रियंका सेन के ससुर मित्रसेन अयोध्या के दिग्गज नेताओं में शामिल थे। वह अयोध्या से सांसद भी थे। प्रियंका के पति रिटायर्ड आइपीएस अधिकारी अरविंद सेन यादव पशुपालन घोटाले में जेल में बंद है। पीएसी में डीआइजी के पद से रिटायर्ड अरविंद सेन के दो बेटी और एक बेटा है।

प्रियंका सेन का परिवार काफी रसूखदार माना जाता है। उनके देवर आनंद यादव फैजाबाद के बड़े नेताओं में एक हैं। वह बीएसपी से यूपी के मंत्री रह चुके हैं। फिलहाल वह समाजवादी पार्टी में हैं। उनके ससुर मित्रसेन भी फैजाबाद से कद्दावर नेता रहे। उनके पति आईपीएस ऑफिसर अरविंद सिंह फिलहाल जेल में बंद हैं। वह घोटाला मामले में सजा काट रहे हैं।

रामनगरी अयोध्या में शनिवार को कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा शीर्ष पर था। शनिवार को यहां 179 नए संक्रमित मिले थे। अयोध्या शहर के साथ मसौधा ब्लॉक की स्थिति काफी गंभीर है। इससे पहले यहां पर 15 अप्रैल को 174 नए संक्रमित मिले थे। मामले सामने आए थे। शनिवार को यहां पर 65 लोग इसके कहर से उबरे भी थे। इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 9615, ठीक होने वालों की 8298 व सक्रिय केस की 1179 हो गई है।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप