लखीमपुर, संवाद सूत्र। मैलानी रेंज के भरिगवां बीट में रविवार की सुबह एक साल के मादा बाघ शावक का शव मिलने से सनसनी फैल गई है। शव एनएच 730 गोला-खुटार रोड से करीब 25 कदम जंगल के अंदर मिला है। इससे सड़क हादसे की भी कोई आशंका नहीं प्रतीत हो रही है। दुधवा पार्क के डायरेक्टर संजय पाठक, बफरजोन के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. अनिल पटेल सहित तमाम अधिकारियों ने मौके का मुआयना कर शव का परीक्षण किया, लेकिन मौत के कारणों की जानकारी नहीं हो पा रही है। शव को पोस्ट मार्टम के लिए आईवीआरआई बरेली भेजा गया है।

मैलानी डिपो के करीब घना जंगल है, जिसमें बाघ सहित तमाम वन्य जीव रहते हैं। इसमें कभी-कभार एक बाघिन भी अपने शावकों के साथ दिख जाती थी। रविवार सुबह करीब छह बजे गोला-खुटार रोड पर निकल रहे राहगीरों ने जब जंगल में मादा शावक का शव देखा तो तुरंत ग्राम प्रधान को सूचना दी। जिसके बाद मौके पर मैलानी रेंज की टीम पहुंची। फील्ड डायरेक्टर का कहना है कि मादा शावक की उम्र करीब डेढ़ साल है। उन्होंने संभावना जताई कि सड़क के नजदीक शव होने से यह अनुमान लगाया जा रहा है कि उसे किसी वाहन ने टक्कर मारी है। हो सकता है कि चोट अंदरूनी हिस्से में लगी है, इसलिए दिखाई नहीं पड़ रही। शव को पोस्टमार्टम के लिए आईवीआरआई बरेली भेजा जा रहा है। जहां से रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा। फिलहाल मैलानी रेंज की टीम को शुरुआती छानबीन करने के निर्देश दिए गए हैं।

सड़क पार करते हुए होती हैं घटनाएं: मैलानी डिपो के करीब काफी घना जंगल है। यहां से गुजरने वाली सड़क पर वाहन चला करते हैं। आए दिन किसी ने किसी जंगली जीव जन्‍तु की मृत्‍यु सड़क पार करते हुए हो जाती है। हालांकि अभी स्‍पष्‍ट नहीं है कि शावक की मौत किसी वाहन से टकरा कर हुई है या किसी और कारणों से। इसका पता पोस्‍टमार्टम के बाद ही चल पाएगा। वहीं ग्रामीण शावक की हत्‍या के पीछे शिकारियों के होने की भी आशंका जता रहे हैं।

 

Edited By: Rafiya Naz