जागरण संवाददाता, लखनऊ: बीते गुरुवार को हुए हादसे के बाद आज नगर बस का टेक्निकल निरीक्षण पुलिस लाइन में किया गया। एसआई एमटी ने नगर बस अधिकारियों के सामने बस चलवाकर देखी। सभी तकनीकी पहलुओं पर गौर कर उसकी रिपोर्ट थाने भेज दी गई है। जांच के दौरान बस का ब्रेक पूरी तरह ठीक मिला। बस पर चालक का नियंत्रण न होना सामने आया है। नगर बस के अधिकारियों ने जांच रिपोर्ट लिखापढ़ी में मांगी है। उनका कहना है कि रिपोर्ट आने के बाद चालक को हटा दिया जाएगा।

बीते गुरुवार को हुए हादसे के बाद पुलिस लाइन में मंगलवार को दुर्घटना में शामिल नगर बस की जांच की पुलिस लाइन में की गई। इस दौरान नगर बस के प्रबंध निदेशक आरिफ सकलैन, सेवा प्रबंधक सत्य नारायण, एआरएम डीके गर्ग की मौजूदगी में एसआई एमटी अरुण कुमार सिंह ने बस चलवाकर देखी। बस के ब्रेक जांचे गए जो एकदम ठीक मिले। इंजन के कई अहम पार्ट्स को देखा गया। तकनीकी रूप से वे भी फिट पाए गए। जांच के बाद बस की रफ्तार अधिक होने की बात सामने आई। चालक राजीव कुमार का बस पर नियंत्रण न होने की बात सामने आना अधिकारी मान रहे हैं। इसमें सीसीटीवी फुटेज को भी आधार बनाया जाएगा।

नौकरी से बाहर होगा चालक

नगरीय परिवहन सेवा के प्रबंध निदेशक आरिफ सकलैन का कहना है कि अभी लिखापढ़ी में रिपोर्ट विभाग को नहीं मिली है। इसके लिए जिम्मेदारों को अवगत करा दिया गया है। रिपोर्ट आते ही चालक को नौकरी से बाहर कर दिया जाएगा। लापरवाह चालकों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा।

टेस्ट के बाद कम की गई बसों की संख्या

अधिकारियों ने मंगलवार को अतिरिक्त सतर्कता बरतते हुए बेडे़ की गहन जांच करते हुए बसों की संख्या मंगलवार को कम कर दी। इस दौरान बसों का रोड टेस्ट भी सुपरवाइजर ने किया। मामूली फाल्ट पर बसों को रोका गया। सुपरवाइजर ने रिपोर्ट देने से इंकार कर दिया। एआरएम डीके गर्ग के मुताबिक करीब 70 बसों का ही संचालन हो सका। दूसरी शिफ्ट में जांच के बाद बसों की संख्या बढ़ाई गई। शाम तक यह संख्या सौ के पास पहुंच गई थीं।

-----------------------

एक बस आज भी हुई पंचर

तमाम दावों के बावजूद रूट नंबर 23 (रजनीखंड से इंटिग्रल) नगर बस संख्या यूपी 32 डीएन 0086 का एक पिछला पहिया पंचर हो गया। 1090 चौराहे के पास निकल रही इस बस को पुलिस कर्मियों ने रोका तो यह सेवा एक मारुति कार से टच हो गई। कार सवार ने नाराजगी जताई। तकरार के बाद उनमें समझौता हो गया और कार सवार चला गया। चालक सर्वेश कुमार बस लेकर गोमतीनगर कार्यशाला लेकर चला गया।

Posted By: Jagran