लखनऊ, जेएनएन। चक्रवात तूफान 'गुलाब' के रविवार शाम ओडिशा और आंध्र प्रदेश तट से टकरा गया। हालांकि इसकी रफ्तार उतनी तेज नहीं है, जितनी आशंका थी। मौसम विशेषज्ञों ने बताया है कि उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में गुलाब तूफान का असर हो सकता है, जिसके कारण मौसम में बदलाव आएगा। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार और मंगलवार को हल्की बारिश होने के आसार हैं।

मौसम विभाग ने कहा है कि चक्रवाती तूफान गुलाब जो पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर सक्रिय था वो अब धीरे धीरे पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। इसके असर से उत्तर प्रदेश के कई अलग-अलग स्थानों पर हल्की बारिश की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक अभी कुछ दिन और कुछ जगहों पर हल्की बरसात होती रहेगी। आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि अभी प्रदेश में कुछ जगहों पर हल्की बरसात ही रहेगी। बादलों की आवाजाही बनी रहेगी। रविवार को भी कुछ जगहों पर हल्की बारिश हुई है।

गुलाब के बाद आएगा शाहीन : संयुक्त राष्ट्र की इकोनामिक एंड सोशल कमीशन फार एशिया एंड पैसिफिक (ईस्कैप) पैनल के 13 सदस्य देश भारत, बांग्लादेश, म्यांमार, पाकिस्तान, मालदीव, ओमान, श्रीलंका, थाईलैंड, ईरान, कतर, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और यमन हैं। इनमें प्रत्येक देश को उसके नाम के पहले अक्षर के अल्फाबेटिकल क्रम के आधार पर अगले चक्रवात का नाम रखने की जिम्मेदारी दी गई है। तूफान आने से पहले ही संबंधित देश की ओर से उसका नामकरण कर दिया जाता है। हाल के दिनों में 'ताउते' नाम म्यांमार ने दिया था। उसके बाद ओमान ने अगले तूफान को 'यास' नाम दिया था। इस बार के चक्रवात को पाकिस्तान ने गुलाब नाम दिया है। वैसे वास्तविक नाम गुल-आब है। अगली बारी कतर की है। कतर ने अगले तूफान का नाम 'शाहीन' तय किया है।

Edited By: Umesh Tiwari