लखनऊ, जेएनएन। राजधानी स्‍थि‍त गोमतीनगर को विश्वस्तरीय स्टेशन बनाने सहित रेलवे की लखनऊ की सभी महत्वपूर्ण योजनाओं को लेकर नवनियुक्त रेलवे बोर्ड अध्यक्ष सुनीत शर्मा समीक्षा करेंगे। सीआरबी की समीक्षा को लेकर रेलवे ने अपने महत्वपूर्ण प्रोजेक्टों की रिपोर्ट तैयार करने का काम शुरू कर दिया है।

एक जनवरी को ही सुनीत शर्मा सीआरबी बने हैं। रेल मंत्रालय इन दिनों लखनऊ की लंबित परियोजनाओं को लेकर सख्त है। यहां करीब 1900 करोड़ रुपये की लागत से पीपीपी मॉडल पर गोमतीनगर को विश्वस्तरीय बनाने, आलमनगर-उतरेटिया मालगाड़ी के बाईपास की एकल लाइन की डबलिंग, आलमनगर स्टेशन को सेटेलाइट स्टेशन बनाने, मानकनगर स्टेशन पर लूप लाइन की संख्या में वृद्धि सहित कई योजनाओं पर काम चल रहा है। सीआरबी के सामने 1800 करोड़ रुपये से चारबाग स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने की योजना का भी प्रस्तुतिकरण होगा। इस योजना से नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कारपोरेशन ने पहले ही हाथ खींच लिया है। 

ऐसे में नई संस्था को शामिल करने पर भी चर्चा होगी। रेल भूमि विकास प्राधिकरण के अधिकारी गोमतीनगर विश्वस्तरीय स्टेशन की वर्तमान प्रगति की रिपोर्ट देंगे। इसके साथ चारबाग स्टेशन की यार्ड रिमॉडलिंग, दो नए प्लेटफार्म के निर्माण, मानकनगर से दिलकुशा तक दो नई एंट्री व निकासी रेल लाइन बिछाने की योजना में हो रही देरी को लेकर सीआरबी कई अधिकारियों की क्लास लगा सकते हैं। वहीं, लखनऊ से कानपुर तक सेमी हाइस्पीड ट्रेन संचालन के लिए अजगैन से दोनों छोर पर स्लीपर, बैलास्ट और पटरी बिछाने की योजना की समीक्षा भी सीआरबी करेंगे। तेजस एक्सप्रेस को नई दिल्ली से लखनऊ होकर अयोध्या तक चलाने के लिए रेलवे की फिजिबिलिटी रिपोर्ट पर भी सीआरबी निर्णय ले सकते हैं।

Edited By: Divyansh Rastogi