लखनऊ, जेएनएन। प्रवासी कामगारों की वापसी और शराब की दुकानें खुलने से पुलिस की चुनौतियां और बढ़ गई हैं। लॉकडाउन का अनुपालन कराने के दौरान अलग-अलग मोर्चों पर डटी पुलिस की मुश्किलें भी बढ़ती जा रही हैं। सड़कों से लेकर हॉटस्पॉट इलाकों तक डटे इन कोरोना योद्धाओं के लिए आने वाले दिन अग्निपरीक्षा से कम नहीं। पुलिसकर्मियों में कोरोना का बढ़ता संक्रमण भी अधकारियों की चिंता बढ़ा रहा है। अब तक 62 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें सबसे अधिक 24 पुलिसकर्मी कानपुर व 17 फीरोजाबाद में हैं। पुलिस के लिए इन दिनों सबसे बड़ी चुनौती अन्य प्रदेशों से आ रहे कामगारों की सुरक्षा व उनके बीच शारीरिक दूरी का अनुपालन कराने की है। 

उत्तर प्रदेश में सोमवार को शराब की दुकानें खुलने के बाद पुलिस के लिए भागदौड़ अचानक बढ़ गई। हालांकि मंगलवार और बुधवार को शराब की दुकानों के बाहर भीड़ कम होने से पुलिस ने थोड़ी राहत की सांस जरूर ली। पुलिस हॉटस्पॉट के अलावा सड़कों और प्रमुख चौराहों से लेकर बैंक, राशन की दुकानों, क्वारंटाइन सेंटर व अन्य प्रमुख स्थानों पर मुस्तैद है। हॉटस्पॉट क्षेत्रों में करीब 6.5 हजार बैरीकेडिंग कर पुलिस ने थोड़ी राहत जरूर ली है। इन स्थानों से ड्यूटी कम होने पर पुलिसकर्मियों को दूसरे स्थानों पर लगाया जा रहा है।

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी का कहना है कि जिला स्तर पर सभी प्रमुख स्थानों पर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाने व लॉकडाउन का कड़ाई से अनुपालन कराने के निर्देश दिए गए हैं। कहीं अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती नहीं की गई है। पुलिस की बढ़ती चुनौतियों को देखते हुए ही पुलिस वाहनों पर लाउडस्पीकर लगाकर लोगों को लगातार शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। पुलिसकर्मियों का मनोबल बनाए रखने के लिए पर्यवेक्षण अधिकारियों को भी कड़े निर्देश दिए गए हैं।

बुद्ध पूर्णिमा पर भी रहेगी पूरी सख्ती

डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने लॉकडाउन के दृष्टिगत बुद्ध बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर भी पूरी सख्ती बरतने व कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के निर्देश दिए हैं। डीजीपी ने कहा है कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आयोजकों व सभ्रांत नागरिकों के जरिए लोगों को प्रेरित करें कि वे बुद्ध बुद्ध पूर्णिमा पर्व अपने घरों में ही मनाएं। इस अवसर पर कहीं जुलूस न निकालें और न ही सामूहिक रूप से एक स्थान पर एकत्रित होकर कोई आयोजन करें। डीजीपी ने कहा है कि शरारतीतत्वों पर कड़ी नजर रखी जाए। डीजीपी ने कहा है कि जिन स्थानों पर भगवान बुद्ध की प्रतिमा स्थापित हैं, वहां सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए जाए। सभी संवेदनशील स्थानों पर प्रभावी पुलिस गश्त की जाए और पुलिसकॢमयों की तैनाती की जाए। साथ ही लोगों को लॉकडाउन तथा शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए लगातार जागरूक किया जाए। संवदेनशील स्थानों व मार्गों पर 112 के वाहनों को भी लगाया जाए।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस