लखनऊ, जेएनएन। चीन से निकलने के बाद कहर बरपा रहा कोरोना वायरस भारत में अब स्टेज टू के बाद थर्ड स्टेज का जानलेवा संक्रमण फैलाने की ओर अग्रसर है। उत्तर प्रदेश में शनिवार को कोरोना वायरस के 14 और पॉजिटिव केस पाए गए। इसमें नोएडा के नौ, मेरठ के चार व एक संक्रमित व्यक्ति वाराणसी का शामिल हैं। अब यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 65 हो गई है। इसमें सर्वाधिक 27 नोएडा के हैं। 

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित की संख्या 65 हो गई हैं। इनमें गौतमबुद्धगर (नोएडा) से ही 27 हैं। नोएडा के अलावा आगरा के 10, लखनऊ के आठ, गाजियाबाद के पांच, मेरठ के पांच पीलीभीत के दो, वाराणसी के दो कैस हैं। लखीमपुर खीरी, बागपत, मुरादाबाद, कानपुर ,जौनपुर व शामली के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं। यूपी में पिछले 22 दिनों में 65 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। अब तक कुल 14 संक्रमित लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है, जिनमें आगरा के सात, नोएडा के चार, गाजियाबाद के दो और लखनऊ का एक व्यक्ति शामिल है।

कोरोना वायरस अभी तक उत्तर प्रदेश के 13 जिलों में कोरोना वायरस अपना पांव पसार चुका है। शनिवार को 133 संदिग्ध संक्रमित लोगों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया। संक्रामक रोग विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ विकास इंदु अग्रवाल ने ने बताया कि नोएडा में 19 पॉजिटिव लोग एक निजी कंपनी के अधिकारी व कर्मचारी हैं। इस कंपनी का एक अधिकारी बीते दिनों यूनाइटेड किंगडम (यूके) की यात्रा कर लौटा था और उसमें कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए थे। प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन ने बताया कि यदि कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित पाया जाता है तो उसका उपचार तत्काल शुरू किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उस जगह का पता लगाने की कोशिश की जानी चाहिए जहां मामला पता चला था। 

यूपी में अभी तक कोरोना वायरस के संदिग्ध 2284 लोगों की जांच कराई जा चुकी है। इसमें से 2171 संदिग्ध लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है यानी इनमें कोरोना वायरस नहीं पाया गया। वहीं 52 लोगों की जांच रिपोर्ट अभी आना बाकी है। स्वास्थ्य विभाग की रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी ) व डब्ल्यूएचओ की टीम ने शनिवार को 10 हजार से अधिक ऐसे लोगों को चिह्नित किया जो चीन सहित कोरोना वायरस प्रभावित देशों की यात्रा कर लौटे हैं। इन्हें कम से कम 28 दिन के होम क्वारंटाइन में रखने को कहा गया है। अभी तक करीब 50040 ऐसे लोग चिह्नित किए जा चुके हैं जो चीन या कोरोना प्रभावित दूसरे देशों की यात्रा कर वापस लौटे हैं। 

नोएडा में लगातार पॉजिटिव केस मिलने पर जिलाधिकारी बीएन सिंह बेहद सक्रिय हो गए हैं और जहां-जहां पर केस पॉजिटिव मिल रहे हैं, उनको सील कराते जा रहे हैं। नोएडा में शनिवार को सेक्टर 37 व 44 के साथ जेपी विशटाउन और ग्रेनो सोयायटी में पॉजिटिव केस मिले हैं। इन सभी क्षेत्र को 30 मार्च तक सील किया गया हैं। जिलाधिकारी बीएन सिंह के आदेश पर चारों सोसायटी/सेक्टर्स को सील कर दिया गया है। इनमें एक सेक्टर 44, दूसरा-128, तीसरा 37 और दो संक्रमित व्यक्ति दादरी के अच्छेजा गांव के रहने वाले हैं।

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता रहा रहा है। ऐसे में अब अस्पतालों में सुविधाएं बढ़ाने के साथ-साथ विदेश यात्रा से आए लोगों को चिन्हित करने का काम भी बहुत तेजी से किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) ने पिछले करीब 5 दिनों में लगभग 37000 ऐसे लोगों को चिन्हित किया जो चीन सहित अन्य कोरोना प्रभावित देशों की यात्रा कर यूपी में लौटे हैं। इन्हें आरआरटी की निगरानी में 14 दिन होम क्वॉरंटाइन में रखा जा रहा है। सोमवार तक कोरोना की जांच के लिए लैब की संख्या बढ़ाकर 12 किए जाने की तैयारी की जा रही है। दूसरी तरफ प्रदेश के सभी जिलों में कोरोना वायरस के लेवल वन के अस्पताल खोलने के लिए डॉक्टर व कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। प्रत्येक जिले में दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में यह अस्पताल खुलेंगे।

संक्रामक रोग विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ विकास इंदु अग्रवाल ने बताया कि उत्तर प्रदेश में अब तक कुल 56 संक्रमित लोगों में से अब तक कुल 14 को स्वस्थ घोषित कर अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। जो स्वस्थ घोषित हुए हैं उनमें आगरा के सात, नोएडा के चार, गाजियाबाद के दो व लखनऊ का एक व्यक्ति शामिल है। अस्पतालों व मेडिकल कॉलेजों में अधिक से अधिक आइसोलेशन बेड व क्वारंटाइन बेड की व्यवस्था की जा रही है। प्रमुख सचिव (स्वास्थ्य) अमित मोहन ने बताया कि अस्पतालों में भर्ती 35 संक्रमितों की हालत स्थिर स्थिति में है। आठ परीक्षण प्रयोगशालाएं हैं, जबकि झांसी में एक नई प्रयोगशाला जल्द ही काम करना शुरू कर देगी। उन्होंने बताया कि 4,235 बेड आइसोलेशन वार्ड में तैयार हैं। क्वारंटाइन के लिए 6000 से अधिक बेड उपलब्ध हैं।

प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण ने बीते चार दिन में तेजी पकड़ी है। चार दिनों में 26 से अधिक पॉजिटिव की संख्या बढ़कर अब कुल संख्या 56 हो गई है। राज्य सरकार लगातार कोरोना वायरस के मरीजों व संदिग्ध मरीजों के इलाज व जांच की सुविधा में लगातार इजाफा कर रही है। आइसोलेशन व क्वॉरंटाइन बेड बढ़ाने के लिए अधिक से अधिक निजी अस्पतालों को भी अब टेकओवर किया जाएगा। अभी 24 निजी मेडिकल कॉलेज व 27 सरकारी मेडिकल कॉलेजों में लगभग 11000 से अधिक बेड आरक्षित किए गए हैं और हर जिले में दो सीएससी में कोरोना अस्पताल बनाए गए हैं। वही प्रयागराज व झांसी मेडिकल कॉलेज और लोहिया संस्थान को इंडियन काउंसिल फॉर मेडिकल रिसर्च आज कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों के नमूने की जांच के लिए हरी झंडी दे सकता है इस तरह कुल 11 लैब हो जाएंगी।

यूपी में बढ़ते गए संक्रमित

तारीख संक्रमित की संख्या

  • 7 मार्च 08
  • 12 मार्च 11
  • 14 मार्च 12
  • 15 मार्च 13
  • 17 मार्च 15
  • 19 मार्च 19
  • 20 मार्च 23
  • 21 मार्च 26
  • 22 मार्च 29
  • 23 मार्च 33
  • 24 मार्च 37
  • 25 मार्च 39
  • 26 मार्च 43
  • 27 मार्च 51
  • 28 मार्च 65 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस