लखनऊ, जेएनएन। Coronavirus Lucknow News Update: शहर के कोरोना मरीजों के इलाज में अव्यवस्था हावी हैं। यहां पहले अस्पताल में भर्ती के लिए जद्​दोजेहद करनी पड़ती है। वहीं मौत के बाद बॉडी को शव वाहन मिलने में दुश्वारी हो रही है। शहर में एक यूनानी डॉक्टर की मौत हो गई। शव वाहन न मिलने से 16 घंटे तक शव मर्च्युरी में रखा रहा।

तेलीबाग निवासी डॉ. सैफद्​दीन अंसारी की मौत हो गई। वह शहर के यूनानी मेडिकल कॉलेज के छात्र रहे हैं। 43 वर्षीय चिकित्सक कुछ दिन पहले कोरोना की गिरफ्त में आ गए। उन्हें इंटीग्रल मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया कराया गया। यहां आइसीयू में इलाज चला। मंगलवार रात 11:50 पर चिकित्सक की मौत हो गई। परिवारजन शव वाहन के लिए कंट्रोल रूम-अफसरों को फोन किया। मगर, शव वाहन नहीं मिल सका। 

बुधवार को भी परिवारजनों को भटकना पड़ा। शव वाहन के लिए फरियाद करनी पड़ी। शाम चार बजे के आस-पास उन्हें एंबुलेंस मिल सकीं। कॉलेज के प्राचार्य डॉ. एमएन सिद्​दीकी के मुताबिक, चिकित्सक की मृत्यु मंगलवार रात को हुई। शव वाहन उपलब्ध कराने की सूचना कंट्रोल रूम भेज दी गई। बुधवार को शव वाहन आने पर बॉडी कोविड-प्रोटोकॉल के तहत सौंप दी गई। कॉलेज में जो भी प्रक्रियाएं थीं। वह समय से पूरी की गईं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस