लखनऊ, जागरण संवाददाता। राजधानी में भले ही कोरोना का प्रकोप थम गया हो, मगर बाहर से आ रहे यात्री लगातार कोरोना पॉजिटिव निकल रहे हैं। इससे संक्रमण का खतरा बरकरार है। बुधवार को केरल और आंध्र प्रदेश से लौटे दो सीआरपीएफ जवानों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। इसके बाद दोनों जवानों को बैरक में आइसोलेशन में कर दिया गया है। इनका नमूना जीन सीक्वेसि‍ंग के लिए केजीएमयू भेजा गया है। वहीं जवानों के संपर्क में आने वालों की भी जांच कराई जा रही है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अब तक करीब 115 जवानों की एंटिजन जांच कराई गई। राहत की बात है कि इन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इससे पहले अमेरिका व दुबई से लौटे एक-एक यात्री कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। नए वैरिएंट के लिए भेजे गए नमूने की जीन सीक्वेंसि‍ंग की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। डिप्टी सीएमओ डॉ. मिङ्क्षलद वर्धन ने बताया कि बाहर से लौट रहे लोगों की निगरानी कराई जा रही है। सभी की कोरोना जांच हो रही है। कोरोना पॉजिटिव मिले दोनों जवान दो दिन पहले केरल और आंध्र प्रदेश से लौटे थे। इन्हें सरोजनी नगर स्थित सीआरपीएफ कैंप में आइसोलेशन में रखा गया है।

सक्रिय मरीजों की संख्या में लखनऊ तीसरे नंबर पर : पिछले कई हफ्ते से लखनऊ में रोज संक्रमित होने वाले कोरोना मरीजों की संख्या पांच से नीचे रह रही है। बुधवार को सिर्फ दो नए संक्रमित पाए गए हैं। अब राजधानी प्रदेश में कुल सक्रिय मरीजों की संख्या के मामले में प्रदेश में तीसरे पायदान पर है। जबकि पांच दिनों पहले लखनऊ फिर से पहले नंबर पर आ गया था। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार अब यहां सिर्फ 15 सक्रिय मरीज रह गए हैं। केजीएमयू व एसजीपीजीआइ में सिर्फ एक दो मरीज ही भर्ती हैं। अन्य पॉजिटिव आ रहे ज्यादातर मरीज इस दौरान होम आइसोलेशन में ही रह रहे हैं। कोरोना से अब तक लखनऊ में 2652 मरीजों की मौत हो चुकी है। कुल सक्रिय मरीजों की संख्या में बरेली पहले व प्रयागराज दूसरे नंबर पर है।

Edited By: Anurag Gupta