लखनऊ, जेएनएन। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड समेत प्रदेश के सभी उलमा ने मस्जिदों के बजाय घरों में नमाज पढ़ने के लिए कहा है। 

दारुल उलूम के बाद अब जमीयत उलमा-ए-हिंद ने भी सुरक्षा के पहलू को ध्यान में रखने की अपील की है। संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष और दारुल उलूम के वरिष्ठ उस्ताद मौलाना अरशद मदनी ने गुरुवार को मुस्लिम समाज के लोगों से मस्जिदों में एकत्र न होने और जुमा की नमाज घर में ही पढ़ने की अपील की।

पत्रकारों से रूबरू मदनी ने कहा कि बेहतर है कि कुछ दिनों के लिए मस्जिदों में लोग इकट्ठे न हों, लेकिन मस्जिदों को बंद भी न किया जाए। इससे पूर्व दारुल उलूम देवबंद के मोहतमिम ने भी देश के मुसलमानों से मस्जिदों में एकत्र न होने और इमाम के साथ चंद लोगों द्वारा ही मस्जिदों में नमाज अदा करने की अपील की थी।

इसी क्रम में सुन्नी वक्फ बोर्ड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी एसएम शोएब ने कहा कि वक्फ की मस्जिदों, मदरसों, दरगाहों आदि में भीड़ आने से रोका जाए। घरों में ही नमाज पढ़ें, ताकि संक्रमण न फैलने पाए। शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड पहले ही अपनी मस्जिदों, मदरसों व दरगाहों में किसी भी प्रकार के धार्मिक आयोजन करने पर रोक लगा चुका है।

अस्थाई अस्पतालों के लिए वक्फ संपत्तियां देने की पेशकश

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने कोरोना वायरस से पीडि़त मरीजों के इलाज के लिए वक्फ संपत्तियां देने की पेशकश की है। वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा कि अगर किसी भी जिले में वक्फ संपत्तियों पर बने स्कूल, मदरसे तथा अन्य धार्मिक स्थलों को जिला प्रशासन तत्काल ले सकता है। उन्होंने सभी मुतवल्लियों, प्रबंध कमेटियों व प्रशासकों को इसके दिशा-निर्देश भेज दिए हैं।

मस्जिद में चोरी छिपे नमाज पढ़ते दबोचे, 53 पर मुकदमा

लॉकडाउन के दौरान बागपत के खेकड़ा के शेखपुरा व करबला मोहल्ला की मस्जिद में चोरी छिपे नमाज पढ़ते 53 लोगों के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। रटौल में मकान के बाहर जमघट लगाए बैठे सात लोगों पर भी पुलिस ने 188 के तहत कार्रवाई की है। इसी क्रम में मुरादाबाद जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस की चेन तोड़ने के लिए जिले की सभी मस्जिदों के इमामों और मस्जिदों के पुजारियों को नोटिस भेजा है। दीवारों पर चस्पा नोटिस में स्पष्ट कहा गया है कि मस्जिद और मंदिर में भीड़ जमा नहीं होनी चाहिए।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस