लखनऊ, जेएनएन। Tablighi Jamaat : अस्पतालों में भर्ती कोरोना संक्रमित या फिर कोरंटाइन किये गए तब्लीगी जमात के लोग डॉक्टरों व पैरामेडिकल स्टाफ के लिए समस्या बन रहे हैं। कानपुर में जमातियों से परेशान डॉक्टरों ने जहां मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पूरे मामले की रिपोर्ट भेजी है, वहीं प्रयागराज में भी जमातियों के उपद्रव के बाद उन पर निगरानी बढ़ाने के साथ ही शिकंजा भी कस दिया गया है।

कानपुर के हैलट अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित जमाती दवा न खाने पर अड़े हैैं। वे दवा वापस लौटा रहे हैैं। पूछने पर कह रहे हैं कि दवा खाने की मनाही है सिर्फ खाना और पानी दो। ये जमाती अस्पताल में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन भी नहीं कर रहे हैं। हालांकि काफी समझाने के बाद यहां भर्ती छह जमातियों में से दो ने देर शाम दवा खा ली लेकिन, बाकी चार जमाती अब भी दवा लेने से इनकार कर रहे हैं। इन जमातियों को शुक्रवार रात और शनिवार सुबह डॉक्टरों ने दवा की चार डोज दीं। जमातियों ने इन्हें लौटा दिया। उनका कहना था कि दवाएं खाना वर्जित हैं, इसलिए नहीं खाएंगे। सिर्फ खाना और पानी दो। चिकित्सकों ने हैलट के प्रमुख अधीक्षक प्रो. आरके मौर्या को समस्या के बारे में बताया। उन्होंने सीएमओ को इसकी रिपोर्ट भेज दी है।

प्रयागराज में क्वारंटाइन अवधि में उत्पात मचा रहे जमातियों पर अब शिकंजा कसने की तैयारी कर ली गई है। पुलिस और प्रशासन की ओर से उन्हें चेतावनी दे दी गई है। फिलहाल, एहतियात के तौर पर करेली स्थित उन दोनों क्वारंटाइन सेंटरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है, जिसमें जमातियों को रखा गया है। दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी मरकज से आए इंडोनेशिया के सात तथा केरल व पश्चिम बंगाल के एक-एक युवक को करेली के एक विवाह घर में क्वारंटाइन किया गया है। ये सभी लोग पुरुषोत्तम एक्सप्रेस से 22 मार्च को यहां पहुंचे थे। इसके बाद शाहगंज स्थित अब्दुल्ला मस्जिद में छिपकर सभी रह रहे थे।

पुलिस, प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 31 मार्च की रात छापा मारकर इन्हें पकड़ा। इनके संपर्क में आए 28 स्थानीय लोगों को भी पकड़ा गया। पकड़े जाने के बाद शुक्रवार को जमातियों ने उत्पात मचाया। चिकित्सा टीम के साथ अभद्रता की। इसको लेकर दोनों क्वारंटाइन सेंटरों में मजिस्ट्रेट तैनात कर दिए गए हैं। पुलिस फोर्स बढ़ाने के साथ सीसीटीवी कैमरे भी चालू करा दिए गए हैं। इन्हें अलग-अलग कमरों में रखने की तैयारी है। इस मामले में सिटी मजिस्ट्रेट रजनीश कुमार मिश्र ने बताया कि अभद्रता करने पर कड़ी कार्रवाई करने की हिदायत दी गई है। वैसे छिपकर रहने के मामले में पुलिस कई धाराओं में मुकदमा इनके खिलाफ दर्ज कर चुकी है।

सामूहिक नमाज का तब्लीगी जमात कनेक्शन

कन्नौज में लॉकडाउन के दौरान सामूहिक नमाज का तब्लीगी जमात से कनेक्शन सामने आया है। पुलिस का दावा है कि जुमे पर सामूहिक नमाज की अजान देने वाला मुख्य आरोपित इखलाक तब्लीगी जमात से जुड़ा है। उसने बाहरी मौलानाओं के वीडियो के आधार पर ही सबको नमाज के लिए बुलाया था।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस