लखनऊ (जेएनएन)। मिशन 2019 की तैयारी में जुटी कांग्रेस भाजपा पर पलटवार करने को प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं की टोलियां गठित करेगी। जिला, ब्लाक और प्रदेश स्तर पर प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन किया जाएगा। प्रदेश महामंत्री हनुमान त्रिपाठी को प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रभारी नियुक्त करते हुए जिला व शहर से इच्छुक कार्यकर्ताओं के नाम मांगे हैं।

प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने बताया कि प्रदेश, जिला व ब्लाक स्तर पर होने वाले प्रशिक्षण शिविरों में सभी वर्गो को प्रतिनिधित्व दिया जाएगा। युवाओं को विशेष तरजीह दी जाएगी। प्रदेश स्तर पर तीन दिनी शिविर आयोजित किया जाएगा तो जिलों में दो दिवसीय और ब्लाकों में एक-एक दिन के प्रशिक्षण शिविर होंगे। इस बारे में सात सितंबर को दिल्ली में ओरियन्टेशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया है, जिसमें प्रदेश महामंत्री हनुमान त्रिपाठी शामिल होंगे।

बाद में त्रिपाठी प्रदेशस्तरीय नेताओं की टोली तैयार करने में मदद करेंगे। सूत्रों का कहना है कि भाजपा की तर्ज पर कांग्रेस ने भी प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं को मैदान में उतरने का फैसला लिया ताकि केंद्र और प्रदेश की खामियों को जनता के बीच प्रभावशाली तरीके से प्रचारित किया जाए। भाजपा द्वारा किए जा रहे दुष्प्रचार का जवाब उसी शैली में देने के लिए युवाओं को तैयार किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि नवनियुक्त प्रभारी हनुमान त्रिपाठी को प्रशिक्षण कार्यक्रम के संबंध में अच्छा खासा अनुभव है। वर्ष 1983 से वर्ष 2000 तक राष्ट्रीय से लेकर ब्लाक स्तरीय दर्जनों प्रशिक्षण शिविरों का संचालन कर चुके हैं।

कांग्रेस सेवादल की पदयात्रा आज : सेवादल ने राफेल डील में घोटाले के विरोध में पदयात्राएं करने का फैसला लिया है। शुक्रवार को सेवादल के स्वयंसेवक प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय से परिवर्तन चौक तक पदयात्रा निकालेंगे। इसका नेतृत्व डा. प्रमोद कुमार पांडेय करेंगे। यह जानकारी मीडिया प्रभारी व संगठन मंत्री राजेश सिंह काली ने दी। प्रथम चरण में मंडल, द्वितीय चरण में जिला व तृतीय चरण में ब्लाक स्तर पर पदयात्राएं निकाली जाएगी।

मुख्यमंत्री अपने मंत्री व अधिकारियों के बच्चों को सरकारी स्कूलों में भर्ती कराएं : कांग्रेस के प्रवक्ता बृजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि शिक्षकों को अपने बच्चों को सरकारी विद्यालय में शिक्षा ग्रहण कराने का उपदेश देने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अपने सहयोगियों से भी इसकी अपेक्षा करनी चाहिए। मुख्यमंत्री को चाहिए कि पहले सरकार के मंत्री, विधायक, सांसद और अधिकारी अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में शिक्षा ग्रहण करवाएं। मुख्यमंत्री ज्ञान देने से पहले सरकारी स्कूलों में गुणवत्ता बहाल करें। 

Posted By: Ashish Mishra